पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • In Ajmer, The Mother And Brother Were Put To Death Over An Embarrassing Relationship; Father And Other Three Brothers Injured, Accused Was Preparing For REET, Absconding After The Incident

अपने ही परिवार को मिटाने का खून सवार:अजमेर में युवक ने मां और भाई की हत्या की, पिता और तीन भाइयों को जख्मी किया; 13 घंटे बाद पकड़ा गया तो बोला- कुछ याद नहीं

अजमेर2 महीने पहले
भिनाय का वह घर, जहां वारदात अंजाम दी गई। पुलिस ने मौके से साक्ष्य जुटाए हैं।

अजमेर के भिनाय कस्बे में बीती रात एक युवक ने अपनी ही मां और छोटे भाई के सिर में हथौड़ा मारकर हत्या कर दी। आरोपी अपने पिता और तीन भाइयों की भी हत्या करना चाहता था, लेकिन घरवालों के शोर मचाने पर मोहल्ले के लोग मदद के लिए आ गए और उनकी जान बच गई। आरोपी अमरचंद्र जांगिड़ (25) ने बीएड किया है और वह REET की तैयारी कर रहा था।

आरोपी युवक की नीयत पूरे परिवार को खत्म करने की थी। शुरुआती जांच के आधार पर बताया जा रहा है कि आरोपी डिप्रेशन में था। वह करीब दो साल से जयपुर में रहकर रीट की तैयारी कर रहा था। परीक्षा नहीं होने की वजह से वह तनाव में था। नौकरी भी नहीं मिल रही थी। संभवत: इसी तनाव में उसने वारदात की। हालांकि, पुलिस का कहना है कि जांच के बाद ही इस वारदात की वजह पता चल पाएगी।

आरोपी 13 घंटे बाद घर से 12 किमी दूर जंगल में पकड़ा गया
आरोपी अमरचंद्र वारदात करने के बाद तड़के करीब 4 बजे फरार हो गया था, लेकिन गुरुवार शाम करीब 5 बजे निमेड़ा के ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी कि उन्होंने आरोपी को पकड़ लिया है। वह खेतों में छिपने की कोशिश कर रहा था। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी। जहां से आरोपी पकड़ा गया, वह जगह वारदात वाली जगह से 12 किलोमीटर दूर है।

ग्रामीणों ने जब आरोपी से मां और भाई की हत्या की वजह पूछी तो उसने कहा कि उसे कुछ भी याद नहीं है। उलटा वह ग्रामीणों से ही पूछने लगा कि उसके परिवार के लोग कैसे हैं?
ग्रामीणों ने जब आरोपी से मां और भाई की हत्या की वजह पूछी तो उसने कहा कि उसे कुछ भी याद नहीं है। उलटा वह ग्रामीणों से ही पूछने लगा कि उसके परिवार के लोग कैसे हैं?

रात 2 बजे की घटना, सबसे पहले मां को मारा
पुलिस ने बताया कि जिस परिवार में यह वारदात हुई, उनका फर्नीचर बनाने का काम है। मां-पिता गांव में रहते थे, जबकि 5 बेटे जयपुर में रहते थे। इनके एक भाई ताराचंद्र का अजमेर में अपेंडिक्स का ऑपरेशन हुआ था। बुधवार दिन में ही सभी भाई गांव आए थे। बुधवार रात करीब 2 बजे आरोपी अमरचंद्र अपने कमरे से बाहर निकला। उसने बिजली का कटआउट निकालकर घर की लाइट बंद कर दी और दरवाजा अंदर से बंद कर लिया। वह मां कमला देवी (60) के कमरे में गया और उनके सिर में हथौड़ा मार दिया। इससे मां की मौके पर ही मौत हो गई। यहां से वह छोटे भाई शिवराज (22) के कमरे में गया और उसके भी सिर में हथौड़ा मारा। शिवराज ने भी मौके पर ही दम तोड़ दिया।

इस बीच शोर-शराबा होने लगा। आरोपी को रोकने के लिए बाहर सो रहे पिता रामधन (65) और दूसरे कमरों में सो रहे तीन भाई भागचन्द, ओमप्रकाश और ताराचंद्र दौड़े। आरोपी ने उन पर भी हमला कर दिया। वह उन सभी की हत्या करना चाहता था। हथौड़े के हमले में तीनों घायल हो गए। तेज आवाज सुनकर मोहल्ले के कुछ लोग जाग गए और बचाने के लिए दौड़े। इस बीच आरोपी भाग निकला।

भिनाय के इसी मकान में वारदात हुई है। पुलिस जांच कर रही है।
भिनाय के इसी मकान में वारदात हुई है। पुलिस जांच कर रही है।

रात को पूरा परिवार खाना खाकर सोया था
भिनाय के कस्बे में हुई इस वारदात की वजह किसी के समझ में नहीं आ रही है। बताया जा रहा है कि रात में परिवार के सभी लोग आराम से खाना खाकर सोए थे। कोई विवाद नहीं था। एक रिश्तेदार ने बताया कि आरापी अमरचंद्र अक्सर चुपचाप रहता था। किसी से ज्यादा बात नहीं करता था। बीती रात भी परिवार के लोग निश्चिंत दिखे, आसपास के लोगों से भी बात की थी।

हत्या के वक्त अजीब हरकत कर रहा था आरोपी
हत्या के वक्त आरोपी जिस तरह की हरकत कर रहा था वह भी उसके डीप डिप्रेशन में होने की तरफ इशारा करती हैं। पुलिस ने बताया कि सबसे पहले अमरचंद्र ने घर की लाइट बंद की और बाहर का दरवाजा बंद किया। इसके बाद मां के कमरे में गया और एक हथौड़े में ही उनकी हत्या कर दी। छोटे भाई शिवराज के कमरे में जाकर कहा- मां बुला रही है। वह जैसे ही उठा उसके सिर में भी हथौड़ा मार दिया।

हमले में पिता रामधन और तीन भाई घायल हो गए। आरोपी ने सबके सिर पर हमला किया।
हमले में पिता रामधन और तीन भाई घायल हो गए। आरोपी ने सबके सिर पर हमला किया।
वारदात के बाद अजमेर से एफएसएल की टीम मौके पर पहुंची और सबूत जुटाए।
वारदात के बाद अजमेर से एफएसएल की टीम मौके पर पहुंची और सबूत जुटाए।

(कंटेंट-रितेश मिश्रा)