• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • In The Investigation, The Sarpanch And The Village Development Officer Were Considered Guilty, The Ward Panch Got The FIR

ग्रामीणों को बांटे फर्जी पट्टे:जांच में सरपंच व ग्राम विकास अधिकारी को माना दोषी, वार्ड पंच ने कराई FIR

अजमेर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
डेमो पिक। - Dainik Bhaskar
डेमो पिक।

अजमेर जिले के मसूदा उपखंड के ग्राम मायला में सरपंच व तत्कालीन ग्राम विकास अधिकारी की ओर से बड़ी राशि लेकर ग्रामीणों को फर्जी पट्टे देने का मामला सामने आया है। वार्ड पंच की ओर से जांच में दोषी पाए गए सरपंच व ग्राम सेवक के खिलाफ मसूदा थाने में मामला दर्ज कराया है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

ग्राम पंचायत मायला के वार्ड संख्या 4 के पंच सददाम काठात ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि पूर्व में वर्तमान सरपंच माणक रायका ने अपने पद का दुरूपयोग करते खुद को लाभ पहुंचाने की मंशा से गांव के अनपढ़ तथा भोले भाले व्यक्तियो को नियम विरुद्ध सरकारी भूमियों के लिए बड़ी राशि लेकर पट्टे जारी किए गए। इसके विरुद्ध विकास अधिकारी पंचायत समिति मसूदा, उपखण्ड अधिकारी मसूदा, जिला कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट सर्तकता अजमेर को शिकायत की गई।

जांच के लिए बनाई गई कमेटी की ओर से वर्तमान सरपंच एवं शंकरसिंह तत्कालीन ग्राम विकास अधिकारी ग्राम पंचायत मायला को दोषी पाया। साथ ही साजन पुत्र लाला निवासी मोतीपुरा को पटटा संख्या 21 बुक नंबर 57 द्वारा जारी पटटे को गलत माना गया तथा दोषी व्यक्तियों के विरूद्ध निलम्बन कार्यवाही प्रस्तावित की।

सरपंच द्वारा इस अवैध पटटे के अलावा गांव के अन्य भोले भाले व्यक्तियों को भी बड़ी धनराशि लेकर गैर कानूनी रूप से पटटे जारी किए। इसके बावजूद आरोपी ने अपने राजनैतिक रसूकात तथा धन बल का प्रयोग कर ग्राम पंचायत की सरकारी भूमिया पर अवैध कब्जे करवाना व खुर्द बुर्द करना जारी कर रखा है। विरोध करने पर मरने-मारने पर उतारू हो जाते हैं। अत: कार्रवाई की जाए। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।