पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोविड आईसीयू में हुई घटना की जांच:जेएलएन में वेंटिलेटर जलना आकस्मिक घटना, काेई दाेषी नहीं मगर व्यवस्थाओं में सुधार जरूरी

अजमेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 12 के बयान, विभागों की तकनीकी रिपोर्ट व निरीक्षण के आधार पर रिपोर्ट तैयार

गत 8 नवंबर को देर रात जेएलएन अस्पताल के कोविड आईसीयू में बिजली की लाइनों में लगी आग के बाद वेंटिलेटर जलने व एक मरीज की मौत के मामले में प्रशासनिक स्तर पर जांच पूरी हो गई है। प्रशासनिक जांच में गवाहों के बयान, विभिन्न विभागों की रिपोर्ट और मौका निरीक्षण के बाद यह निष्कर्ष निकला है कि यह एक आकस्मिक घटना थी और इसके लिए किसी व्यक्ति विशेष को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है।

वहीं जांच रिपोर्ट में ऐसी घटनाएं रोकने के लिए व्यवस्थाओं में सुधार की जरूरत बताते हुए सुझाव दिए गए। कलेक्टर प्रकाश राजपुरोहित के निर्देशानुसार अतिरिक्त जिला कलेक्टर (शहर) विशाल दवे सहित तीन सदस्यों की जांच कमेटी गठित की गई थी। इस कमेटी ने जेएलएन अस्पताल के कोविड आईसीयू वार्ड में शॉर्ट सर्किट होने से वेंटिलेटर जलने व इस वेंटिलेटर पर उपचार ले रहे मरीज की मृत्यु के मामले की विस्तृत जांच के बाद रिपाेर्ट तैयार कर सबमिट कर दी है।

जांच कमेटी ने यह माना है कि घटना के बाद माैके पर माैजूद मेडिकल स्टाफ ने स्थिति संभाल ली थी और सूचना मिलते ही सीनियर स्टाफ भी घटना स्थल पंहुच गया था। इसे आकस्मिक हाेने वाली घटना मानते हुए कमेटी ने कहा है कि इसके लिए किसी व्यक्ति विशेष काे जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता परंतु भविष्य में ऐसी घटनाओं काे राेकने के लिए उठाए जाने वाले कदम काे लेकर सुझाव दिए हैं।

यह है कमेटी के प्रमुख सुझाव

  • अस्पताल में बिजली वायरिंग की थर्मल स्कैनिंग लगातार हाे ताकि समय पर ही समस्या का पता लगाकर निदान हाे सके।
  • बिजली उपकरण व लाइनाें के रखरखाव के लिए अलग टीम हाेनी चाहिए
  • लाइफ सेविंग से जुड़े सिस्टम में एनर्जी बैकअप का अलग से सिस्टम हाेना चाहिए ताकि बाहरी विद्युत व्यवधान से बचा जा सके।
  • अस्पताल में अतिरिक्त रूप से पाेर्टेबल मल्टी प्लग हाेने चाहिए।
  • वेंटिलेटर सहित अन्य प्रमुख उपकरण की देखरेख व समयबद्ध हाे। इसके लिए अस्पताल प्रशासन का विद्युत अभियंता हाेना चाहिए।
  • एनर्जी ऑडिटर द्वारा ऑडिट कराएं तथा सुझाव के अनुरूप जरूरी कदम उठाएं।
  • संवेदनशील उपकरणाें काे स्टेबलाइजर से संरक्षित करने और अर्थ लीकेल रिले लगाए जाने की जरूरत है।
  • जेएलएन काे अपने इलैक्ट्रिशियन की व्यवस्था करनी चाहिए और एईएन स्तर के अधिकारी से समय-समय पर जांच जरूरी है।
  • अगर पीडब्ल्यूडी काे इलैक्ट्रिक कार्य की जिम्मेदारी दी जाती है, ताे बजट उपलब्ध कराना चाहिए।
  • अग्निशमन यंत्राें की समय-समय पर जांच और रखरखाव कराया जाए।
  • जेएलएन अस्पताल में बिजली उपकरणाें के रखरखाव की युक्तियुक्त व्यवस्था नहीं है। एक स्थाई कमेटी बने जिसमें विद्युत विभाग, पीडब्ल्यूडी, चिकित्सालय, अग्निशमन से जुड़े अधिकारी शामिल हाें। एक प्रभारी चिकित्सक की भी नियुक्ति हाेनी चाहिए।

बयानाें और निरीक्षण से उजागर हुईं ये कमियां

  • संभाग के सबसे बड़े अस्पताल में बिजली व्यवस्था एक ठेकेदार के भराेसे हैं, जिसके केवल तीन इलेक्ट्रिशियन है।
  • पीडब्ल्यूडी और विद्युत विभाग के अधिकारियाें ने बयान में माना कि कई सालाें से अस्पताल की बिजली लाइनाें का रखरखाव नहीं हुआ है।
  • अस्पताल में अर्थ लीकेज रिले जैसी सामान्य सुविधा नहीं है जिससे दुर्घटना के समय बचाव हाे।
  • पीडब्ल्यूडी काे बजट नहीं मिलता और हालात यह है कि छाेटी-माेटी मेंटिनेंस के लिए शटडाउन लेना पड़ता है। दाेनाें विभागाें के बीच काेई सामंजस्य नहीं है।
  • जेएलएन अस्पताल का मेन इलेक्ट्रिक कंट्राेल बाेर्ड बहुत ही जीर्ण शीर्ण हालत में है।
  • कुल मिलाकर जेएलएन अस्पताल की बिजली व्यवस्था बेहद खराब रही है।

यह हुआ था उस दिन

गत 8 नवंबर की रात काेविड आईसीयू में 20 गंभीर मरीज भर्ती थे। इनमें से करीब 10 मरीज वेंटिलेटर पर थे। रात करीब 3:30 बजे अचानक एक वेंटिलेटर से धुंआ निकलने के बाद धमाके होने लगे और लाइटों समेत अन्य मेडिकल उपकरणों से धुंआ निकलने लगा। प्रत्यक्षदर्शी मरीजों के परिजनों ने बताया कि वार्ड में धुंए के कारण घुटन होने लगी थी।

डॉक्टरों, परिजनों के साथ मरीजों में अचानक आपाधापी मच गई। आपातकाल की स्थिति देखते हुए सभी मरीजों को पास ही के ईएनटी वार्ड में शिफ्ट किया गया। एक सीनियर सिटीजन मरीज के वेंटिलेटर से सबसे पहले धुंआ निकला, घबराए परिजनों ने रेजिडेंट डॉक्टरों को जानकारी दी तो दूसरा वेंटिलेटर लगाया गया उसमें भी धुंआ निकलने लगा, तीसरा वेंटिलेटर लगाया लेकिन इस बीच उनकी दुखद मृत्यु हाे गई।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज समय कुछ मिला-जुला प्रभाव ला रहा है। पिछले कुछ समय से नजदीकी संबंधों के बीच चल रहे गिले-शिकवे दूर होंगे। आपकी मेहनत और प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। किसी धार्मिक स्थल पर जाने से आपको...

    और पढ़ें