पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हरकत में प्रशासन:जेएलएन की बिल्डिंग 140 साल पुरानी, अब पीडब्ल्यूडी कराएगी बिल्डिंग सेफ्टी ऑडिट

अजमेर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नए एक्स-रे रूम में छत के प्लास्टर सहित फोर सीलिंग एक्स रे मशीन पर आकर गिरी। - Dainik Bhaskar
नए एक्स-रे रूम में छत के प्लास्टर सहित फोर सीलिंग एक्स रे मशीन पर आकर गिरी।
  • एक्स-रे मशीन पर प्लास्टर गिरा ताे हरकत में दिखा प्रशासन
  • अस्पताल की बिल्डिंग की स्थिति काे देखते हुए पीडब्ल्यूडी से मेडिकल काॅलेज प्रशासन सेफ्टी ऑडिट करवा रहा

जेएलएन अस्पताल की मुख्य बिल्डिंग 140 साल पुरानी है। यह बिल्डिंग अब अपना वजूद खाेने लगी है। नीवाें में लगातार पानी का रिसाव हाेने व एक के ऊपर एक नई इमारत खड़ी करने के कारण यह टूटने लगी है। मंगलवार काे आपातकालीन यूनिट में लगी नई एक्स-रे मशीन पर गिरा प्लास्टर इसी की परिणति था। यहां केवल बाहर की दीवाराें पर प्लास्टर व रंग राेगन करके इसे नया किया जा रहा है, जबकि अंदर की दीवारें खाेखली हाेने लगी है। अस्पताल की बिल्डिंग की स्थिति काे देखते हुए पीडब्ल्यूडी से मेडिकल काॅलेज प्रशासन सेफ्टी ऑडिट करवा रहा है।

सेफ्टी ऑडिट की रिपाेर्ट आने के बाद ही इस पर आगे निर्णय किया जाएगा। काेविड में जेएलएन में आगजनी हाेने के बाद वायरिंग की ऑडिट करवाई थी, रिपाेर्ट आने के बाद पूरी वायरिंग बदली गई। वहीं दूसरी ओर एक्स-रे मशीन पर प्लास्टर गिरने के कारण वह क्षतिग्रस्त हाे गई है। यह मशीन अब चलने लायक बची है या नहीं इस पर अभी निर्णय इंजीनियरों की टीम आकर करेगी। सुरक्षा काे देखते हुए इसे बंद कर दिया गया है।

जानकाराें ने बताया कि जिस समय प्लास्टर गिरा उससे महज कुछ मिनिट पहले ही एक मरीज का एक्स-रे हुआ था। यह ताे गनीमत रही कि काेई हादसा नहीं हुअा। यहां पर फाेर-सीलिंग करवा दिए जाने के कारण पता ही नहीं चलता कि अस्पताल में छत की स्थिति क्या है।

अस्पताल की बिल्डिंग की सेफ्टी ऑडिट करवा रहे हैं। बिल्डिंग काफी पुरानी है। रिपाेर्ट आने के बाद ही स्थिति का पता चलेगा क्या कारण रहे हैं।
- डाॅ. वी बी सिंह, प्रिंसिपल, मेडिकल काॅलेज

जेएलएन अस्पताल काे बिल्डिंग सेफ्टी ऑडिट कराने के लिए पहले भी लिखा जा चुका है। मगर अस्पताल प्रबंधन ने रुचि नहीं ली। अब वापस इस बारे में पत्र देकर अवगत करवाया जाएगा।
- देवेन्द्र सिंघल, अधिशासी अभियंता, पीडब्ल्यूडी, अजमेर

खबरें और भी हैं...