मासूम के साथ दुष्कर्म का मामला:पॉक्सो कोर्ट के न्यायधीश ने सुनाई सजा, आरोपी को 20 साल का कठोर कारावास व 1 लाख का जुर्माना

अजमेर6 महीने पहले
आरोपी को हुई सजा

अजमेर पॉक्सो कोर्ट 2 के न्यायाधीश ने मासूम के साथ दुष्कर्म के मामले में फैसला सुनाया है। न्यायालय ने आरोपी को 20 साल के कठोर कारावास के साथ 1 लाख रुपए का आर्थिक दंड भी लगाया है। आरोपी द्वारा मासूम को छत पर ले जाकर वारदात को अंजाम दिया गया था।

अजमेर पॉक्सो 2 के विशिष्ट लोक अभियोजक विक्रम सिंह शेखावत ने बताया कि मामला 30 जुलाई 2020 का है। आरोपी द्वारा 5 साल की मासूम के साथ छत पर ले जाकर दुष्कर्म किया गया। जिसके बाद मासूम की तबीयत बिगड़ने पर परिजन अस्पताल लेकर पहुंचे तो डॉक्टर ने नाबालिग के साथ गलत काम होने की जानकारी दी। परिजनों ने मासूम से जानकारी ली तो उसने आरोपी मोहित उर्फ मनु उर्फ मनीष द्वारा छत पर ले जाकर गलत काम करना बताया। परिजनों ने मामले में ब्यावर सिटी थाने में मुकदमा दर्ज करवाया। पुलिस ने आरोपी मोहित उर्फ मनु उर्फ मनीष को गिरफ्तार किया।

मामले में लगातार सुनवाई के बाद पॉक्सो कोर्ट के न्यायाधीश ने 16 गवाह और 27 दस्तावेज के आधार पर आरोपी को दोषी मानते हुए फैसला सुनाया और आरोपी ब्यावर निवासी मोहित उर्फ़ मन्नू उर्फ मनीष (21) को 20 साल के कठोर कारावास के साथ 1 लाख रुपए का आर्थिक दंड लगाया है।

खबरें और भी हैं...