पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना अपडेट:दरगाह परिसर से गिरफ्तार महाराष्ट्र का काेराेना संक्रमित जेबतराश काेविड वार्ड से हुआ फरार

अजमेर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सबसे बड़ा खतरा; फरार जेबतराश जिसके संपर्क में अाएगा उसी के संक्रमित होने की आशंका, डर कहीं कोरोना विस्फोट ना हो जाए
  • बड़ी लापरवाही ; गरीब नवाज के उर्स में देशभर से लाखों जायरीन दरगाह आए, लेकिन चिकित्सा विभाग ने रैंडम सैम्पलिंग नहीं की

दरगाह परिसर से बुधवार काे जेबतराशी करते पकड़ा गया महाराष्ट्र के मालेगांव का काेराेना संक्रमित युवक रफीक साेमवार तड़के जेएलएन अस्पताल के सुपर काेविड वार्ड से फरार हाे गया। संक्रमित युवक के फरार हाेते ही जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया।

युवक की रिपाेर्ट काेराेना पाॅजिटिव आने के कारण इसके अब सुपर स्प्रेडर होने की आशंका है। इस मामले में प्रशासन की सबसे बड़ी ढिलाई यह रही कि पूरा दिन निकल जाने के बावजूद संक्रमित युवक के संपर्क में आए पुलिसकर्मियाें या अन्य की काेविड जांच तक नहीं हाे सकी। प्रशासन से जुड़े ये लाेग भी दाे दिन से शहर में घूम रहे हैं। जेबतराश के साथ ही अब पुलिसकर्मी व अन्य के कोरोना संक्रमित होने की आशंका हो गई है। सबसे बड़ी चिंता की बात यह है कि महाराष्ट्र में काेराेना का नया स्ट्रेन आ चुका है, ऐसे में अजमेर में भी इस स्ट्रेन के पहुंचने का डर बन गया है।

विभाग ने क्वारेंटाइन सेंटर ही बंद कर दिए
पहले किसी भी आराेपी के पकड़े जाने के बाद उसे शहर में बनाए गए क्वारेंटाइन सेंटर में रखा जाता था, ताकि वह फरार नहीं हाे सके। उपचार हाेने तक पुलिस सुरक्षा में उसे रखा जाता था, लेकिन राज्य सरकार ने क्वारेंटाइन सेंटर व काेविड सेंटर बंद कर दिए। इस कारण अब सभी काे अाम मरीजाें के साथ ही जेएलएन में रखा जा रहा है।

जमानत हाे जाने के कारण पुलिस ने अपना पल्ला झाड़ा, अस्पताल प्रशासन ने भी नहीं की काेई व्यवस्था

जमानत हो गई ताे काैन रखेगा ध्यान
जेबतराश रफीक की रविवार काे जमानत हाे गई। केंद्रीय कारागार से इसका खत भी जारी हाे गया कि जमानत हाेने से उसे जेल नहीं लाएं। जेएलएन में पहले सुरक्षा में लगे पुलिसकर्मी भी जमानत हाेने के बाद चिंता मुक्त हाे गए। अस्पताल प्रशासन के पास इतने गार्ड नहीं हैं कि वह हर एक मरीज काे सुरक्षा घेरे में रख सके। इसी का फायदा उठाकर युवक तड़के वार्ड से फरार हाे गया।

कहीं फिर दरगाह बाजार तो नहीं पहुंच गया युवक
प्रशासन काे चिंता है कि यदि अस्पताल से फरार हुआ युवक दरगाह बाजार क्षेत्र में हाेगा ताे वह कई लाेगाें के संपर्क में आकर उन्हें भी काेराेना पाॅजिटिव कर सकता है। अधिकारियाें का कहना है कि गत दिनाें प्रधानमंत्री, कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सहित कई राष्ट्रीय नेताओं की ओर से दरगाह में चादर पेश की गई थी। इस दाैरान कई राजनेता यहां आए। कहीं ऐसा ना हाे कि उस समय भी फरार युवक वहीं माैजूद रहा हाे, क्याेंकि चादर पेश करने के दाैरान कई राजनेताओं ने मास्क नहीं लगा रखे थे।

सैंपलिंग करना ही भूला विभाग, कुछ ने अपने स्तर पर करवाई जांच
जेबतराश युवक के काेराेना संक्रमित मिलने के बावजूद पूरे दिन साेमवार काे अस्पताल प्रशासन ने पुलिसकर्मियाें, आरएसी के जाप्ते में शामिल जवानाें की काेविड जांच नहीं करवाई। दरगाह थाने के हैड कांस्टेबल राकेश, कांस्टेबल धर्मेन्द्र कुड़ी, पेमाराम ने अपने स्तर पर ही सैंपलिंग करवाई। आरएसी के जाप्ते में शामिल जवानाें व अदालत में पेशी के दाैरान वहां काैन लाेग माैजूद थे, इसकी जानकारी विभाग मंगलवार काे जुटाएगा। बता दें कि दरगाह थाने के 15 पुलिसकर्मी जेबतराश काे पकड़कर लाए थे।

सैम्पलिंग की काेई व्यवस्था नहीं
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य महकमे की ओर से मुंबई और महाराष्ट्र से आने वाले जायरीन की सैंपलिंग की कोई व्यवस्था नहीं की गई है। ना ही बॉर्डर पर जांच की जा रही है, ना ही दरगाह क्षेत्र में। यदि विभाग नियमित रैंडम सैंपलिंग भी करता ताे उर्स में आए लाेगाें की रिपाेर्ट पहले ही सामने अा जाती। विभाग पहले भी आंकड़े छिपाने के लिए जांच करने में कोताही बरतता रहा है। बता दें कि कोरोना संक्रमण बढ़ने से महाराष्ट्र के अमरावती, अकोला, बुलढाणा, वाशिम और यवतमाल में अगले सात दिनों के लिए आंशिक लॉकडाउन लगाया गया है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी विशिष्ट कार्य को पूरा करने में आपकी मेहनत आज कामयाब होगी। समय में सकारात्मक परिवर्तन आ रहा है। घर और समाज में भी आपके योगदान व काम की सराहना होगी। नेगेटिव- किसी नजदीकी संबंधी की वजह स...

    और पढ़ें