पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Knock On 3.25 Lakh Houses In The Third Phase; 8277 Found Suffering From Cough, Cold And Fever, Got Treatment Facility Sitting At Home

अजमेर जिले में सवा 3 लाख घरों पर दस्तक:खांसी, जुकाम एवं बुखार से पीड़ित मिले 8277; घर घर सर्वे अभियान, घर बैठे मिली उपचार की सुविधा

अजमेर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मरीज की जांच करती चिकित्साकर्मी - Dainik Bhaskar
मरीज की जांच करती चिकित्साकर्मी

अजमेर जिले में घर-घर सर्वे अभियान के दो चरणों के बाद जिला प्रशासन की ओर से शुरू किए तृतीय चरण में अब तक तीन लाख 24 हजार 536 घरों का सर्वे किया जा चुका है। सर्वे में चिह्नित किए गए 8277 बुखार, जुकाम एवं खांसी के मरीजों को घर बैठे उपचार मुहैया करवाया गया।

कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने तथा मरीजों को प्राथमिक स्तर पर ही चिन्हित करके उपचार सुलभ कराने के लिए घर-घर सर्वे अभियान पहले दो चरणों में चलाया गया था। इसके बाद तीसरा चरण 24 मई से शुरू हुआ। इंसीडेंट कमाण्डर की देखरेख में गठित दलों की ओर से प्रत्येक घर पर पहुंच कर खांसी, जुकाम एवं बुखार से पीड़ित मरीजों का चिह्नीकरण किया गया। इन मरीजों को मौके पर ही दवा वितरण करने के साथ ही घर पर ही रहने के लिए पाबंद किया। मरीजों के परिजनों को भी मरीज के स्वस्थ होने तक घर पर ही रहने के लिए समझाइश की गई।

सर्वे की ये रही स्थिति

  • 24 मई को एक लाख 19 हजार 706 घरों का सर्वे किया गया। सर्वे किए गए घरों में से 2968 घरों में 3289 मरीजों को चिन्हित किया गया। इनमें से 284 व्यक्तियों ने स्थानीय चिकित्सालय से उपचार आरम्भ कर दिया। सर्वे दलों द्वारा 3005 व्यक्तियों को मौके पर मेडिकल किट प्रदान कर उपचार आरम्भ किया गया।
  • 25 मई को 61929 घरों का सर्वे किया गया। सर्वे किए गए घरों में से 1576 घरों में 1609 मरीजों को चिन्हित किया गया। इनमें से 46 व्यक्तियों ने स्थानीय चिकित्सालय से उपचार आरम्भ कर दिया। सर्वे दलों द्वारा 1563 व्यक्तियों को मौके पर मेडिकल किट प्रदान कर उपचार आरम्भ किया गया।
  • 26 मई को 53 हजार 233 घरों का सर्वे किया गया। इनमें से 1157 घरों में 1260 व्यक्ति बीमार पाए गए। बीमार व्यक्तियों में 74 ने निकटवर्ती चिकित्सालय से उपचार ले लिया। सर्वे दल द्वारा 1186 व्यक्तियों को चिकित्सा विभाग द्वारा तैयार किए गए मेडिकल किट मौके पर ही प्रदान किए गए।
  • 27 मई को 43 हजार 298 घरों का सर्वे किया गया। इनमें से 947 घरों में 1017 व्यक्ति बीमार पाए गए। बीमार व्यक्तियों में से 55 ने निकटवर्ती चिकित्सालय से उपचार ले लिया। सर्वे दल द्वारा 962 व्यक्तियों को चिकित्सा विभाग द्वारा तैयार किए गए मेडिकल किट मौके पर ही प्रदान किए गए।
  • 28 मई को 32100 घरों का सर्वे किया गया। इनमें से 667 घरों में 722 व्यक्ति बीमार पाए गए। बीमार व्यक्तियों में से 93 ने निकटवर्ती चिकित्सालय से उपचार ले लिया। सर्वे दल द्वारा 629 व्यक्तियों को चिकित्सा विभाग द्वारा तैयार किए गए मेडिकल किट मौके पर ही प्रदान किए गए।
  • 29 मई को 14470 घरों का सर्वे किया गया। इनमें से 342 घरों में 379 व्यक्ति बीमार पाए गए। बीमार व्यक्तियों में से 58 ने निकटवर्ती चिकित्सालय से उपचार ले लिया। सर्वे दल द्वारा 321 व्यक्तियों को चिकित्सा विभाग द्वारा तैयार किए गए मेडिकल किट मौके पर ही प्रदान किए गए।

दो चरणों में 37898 मरीजों को बांटी दवाइयां

प्रथम चरण 28 अप्रैल से आरम्भ किया गया। द्वितीय चरण 7 मई से पूरे जिले में चलाया गया। अभियान के दोनों चरणों में 37898 व्यक्तियों को मेडिकल किट दिए गए। इनमें प्रथम चरण के 17175 तथा द्वितीय चरण के 20723 मेडिकल किट शामिल है। दोनों चरणों में 41415 व्यक्तियों का चिन्हीकरण किया गया था। इनमें से 3517 व्यक्तियों ने जागरूकता अपनाते हुए तुरन्त चिकित्सालय से उपचार आरम्भ कर दिया। शेष 37898 व्यक्तियों को दलों ने मेडिकल किट मौके पर उपलब्ध करवाया।

खबरें और भी हैं...