मूर्ति विसर्जन के दौरान चाचा-भतीजा सहित 6 की मौत:एक युवक का पैर फिसला, उसे बचाने एक-एक कर 5 और पानी में उतरे

अजमेर4 महीने पहले
मूर्ति विसर्जन के दौरान डूबने से हुई मौत के बाद युवकों के शवों को नसीराबाद के सरकारी हॉस्पिटल लाया गया।

मूर्ति विसर्जन के दौरान 6 युवकों की डूबने से मौत हो गई। मृतकों में चाचा-भतीजा भी शामिल हैं। एक युवक का पैर फिसला था। उसे बचाने के लिए एक-एक कर 5 और युवक पानी में उतरे और सभी डूब गए। दलदल का उन्हें अंदाजा नहीं था। काफी मशक्कत के बाद ग्रामीणों ने शवों को निकाला। मामला अजमेर के नसीराबाद स्थित नांदला इलाके का है।

सरपंच मानसिंह रावत ने बताया कि मूर्ति विसर्जन के लिए नंदा जी की ढाणी से 25 ग्रामीण बुधवार दोपहर करीब 3.30 बजे नांदला के पास पानी से भरे गड्‌ढे पर पहुंचे थे। माता की मूर्ति का विसर्जन किया। मूर्ति को पानी के बीच धकेलने की कोशिश में एक युवक का पैर फिसल गया था। इसी दौरान गहरे पानी में पहुंच गया। इसे बचाने के चक्कर में 5 और की जान चली गई।

मृतकों की फाइल फोटो
मृतकों की फाइल फोटो

बाद में पता चला एक और लापता है
हादसे के बाद पानी से 5 बॉडी निकालकर पुलिस और ग्रामीण हॉस्पिटल आ गए। किसी को अहसास ही नहीं था कि एक और युवक लापता है। उसका नाम शंकर था। शंकर के परिवार वालों ने उसका फोन नंबर डायल किया। मोबाइल स्विच ऑफ आ रहा था। इतने में हॉस्पिटल कलेक्टर भी पहुंच गए थे। शंकर के परिवार वालों ने अपने बेटे के लापता होने की सूचना दी। उन्होंने पानी में उसकी खोज करने की गुजारिश की। फिर से पानी में रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया। 2 घंटे की मशक्कत के बाद शंकर की बॉडी मिली।

अजमेर के नसीराबाद हॉस्पिटल के बाहर जुटी भीड़। मूर्ति विसर्जन के दौरा एक साथ 6 लोग डूब गए। पूरे गांव में कोहराम बच गया है।
अजमेर के नसीराबाद हॉस्पिटल के बाहर जुटी भीड़। मूर्ति विसर्जन के दौरा एक साथ 6 लोग डूब गए। पूरे गांव में कोहराम बच गया है।

सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस व ग्रामीणों ने सबको बाहर निकाला। इन्हें लेकर नसीराबाद हॉस्पिटल पहुंचे, जहां डॉक्टर्स ने मृत घोषित कर दिया। मौके और अस्पताल पर स्थानीय पुलिस-प्रशासन भी पहुंचा। सूचना मिलने के बाद केकड़ी से अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक घनश्याम शर्मा भी माैके पर पहुंच गए। एसपी चूनाराम जाट व कलेक्टर अंशदीप भी मौके पर पहुंचे हैं।

छह शवों को देखकर हर आंख नम हो गई। इन्हें लेकर ग्रामीण नसीराबाद हॉस्पिटल पहुंचे, जहां डॉक्टर्स ने मृत घोषित कर दिया। खबर मिलते ही पुलिस और प्रशासन के अफसर भी पहुंचे।
छह शवों को देखकर हर आंख नम हो गई। इन्हें लेकर ग्रामीण नसीराबाद हॉस्पिटल पहुंचे, जहां डॉक्टर्स ने मृत घोषित कर दिया। खबर मिलते ही पुलिस और प्रशासन के अफसर भी पहुंचे।

मृतकों के नाम
नांदला, नंदाजी की ढाणी निवासी पवन पुत्र मोहन रेगर (35), ​​​​राहुल पुत्र छीतरमल मेघवंशी (25), राहुल पुत्र कैलाश रेगर (25), गाड़ी मोहल्ला, नसीराबाद सिटी निवासी लकी पुत्र शंकर बैरवा (20), गजेन्द्र पुत्र बाबूलाल रेगर (25), शंकर पुत्र बाबूलाल (25)। राहुल (भतीजा) और पवन (चाचा) रिश्तेदार हैं। पवन ड्राइवर है। वहीं, राहुल 12वीं में पढ़ता है।

निंबाहेड़ा विर्सजन के दौरान हादसा: 3 युवकों की पानी में डूबने से मौत

विसर्जन के लिए प्रतिमा को कचरिया खेड़ी गांव की खदानों में लेकर गए।
विसर्जन के लिए प्रतिमा को कचरिया खेड़ी गांव की खदानों में लेकर गए।

निंबाहेड़ा में उपखंड क्षेत्र के कचरिया खेड़ी गांव में प्रतिमा विसर्जन के दौरान बड़ा हादसा हो गया। यहां खदान में डूबने से तीन लोगों की मौत हो गई है। हादसे के बाद मौके पर हड़कंप मच गया। जानकारी में सामने आया कि डोरिया गांव में प्रतिमा की स्थापना हुई थी। जिसका विसर्जन किया जा रहा था। विसर्जन के लिए प्रतिमा को कचरिया खेड़ी गांव की खदानों में लेकर गए। यहां गहराई में चले जाने से तीन युवक की मौके पर ही मौत हो गई। (पूरी खबर पढ़ें)

पानी में लगातार जा रही जान...पढे़ं ये खबर भी....

(इनपुट-रियाज अहमद, नसीराबाद)