सरपंच की गुमशुदा पत्नी की लाश कुएं में मिली:एक दिन पहले बिना बताए घर से निकली; मानसिक रूप से थी बीमार

अजमेर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डेमो पिक। - Dainik Bhaskar
डेमो पिक।

अजमेर जिले के बरना ग्राम पंचायत सरपंच की पत्नी की कुएं में लाश मिलने से सनसनी फैल गई। महिला एक दिन पहले ही बिना बताए घर से निकली और पति ने उसकी गुमशुदगी किशनगढ़ थाने में दर्ज कराई थी। शव को यज्ञनारायण अस्पताल की मॉर्च्यूरी में पोस्टमार्टम के बाद परिजन के सुपुर्द कर दिया। मृतका मानसिक रूप से बीमार थी और उसका काफी समय से इलाज चल रहा था। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। पुलिस इसे हादसा मान रही है।

बरना सरपंच राजेंद्र प्रसाद की पत्नी प्रेमलता रेगर (42) 12 जनवरी को घर से बिना बताए निकल गई थी। परिजन उसे ढूंढ रहे थे। जिसकी बुधवार को शहर थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज करवाई गई थी। जहां गुरुवार शाम को भारला रोड के पास कुए में प्रेमलता का शव तैरता हुआ मिला। ग्रामीणों और परिजनों की मौके पर भीड़ जमा हो गई। जानकारी मिलने पर किशनगढ़ थाना पुलिस भी मौके पर पहुंची और शव को कुएं से बाहर निकाला गया। बाद में पुलिस ने शव को हॉस्पिटल के मॉर्च्यूरी में रखवा दिया।

वह बीमार रहा करती थी और 12 जनवरी को बिना किसी को कुछ बताए घर से निकल गई। पुूलिस ने शुक्रवार सुबह पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन के सुपुर्द कर दिया। किशनगढ़ शहर थाना प्रभारी नरपतसिंह ने बताया कि मृतका मानसिक रूप से बीमार थी और उसका इलाज चल रहा था। ऐसे में वह कुएं की तरफ गई होगी और यह हादसा हो गया होगा। पुलिस मामले की जांच कर रही है। मृतका की करीब बस साल पहले शादी हुई और एक पन्द्रह साल का लड़का व एक तेरह साल की लड़की है।