भास्कर खास / विधायक ने समझा महिलाओं का दर्द, स्त्रियाें के स्वाभिमान का उठाया बीड़ा

Legislator understood the pain of women, took up the self-respect of women
X
Legislator understood the pain of women, took up the self-respect of women

  • किशनगढ़ विधानसभा क्षेत्र की जरूरतमंद बालिकाओं व महिलाओं को सेनेटरी नेपकिन बंटवाने का निर्णय

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:41 AM IST

अजमेर. लॉकडाउन में जरूरतमंद लोगों को खाद्य सामग्री की ओर सभी का ध्यान गया। लेकिन एक महिला की सबसे बड़ी मासिक धर्म की पीड़ा की तरफ किसी का ध्यान नहीं गया। अब विधायक सुरेश टांक ने महिलाओं के दर्द को समझते हुए उनकी जरूरतों को पूरा करने की नई जिम्मेदारी लेते हुए किशनगढ़ विधानसभा क्षेत्र की सभी जरूरतमंद महिलाओं, मनरेगा श्रमिक, सरकारी स्कूलों की छात्राओं को निशुल्क सेनेटरी पैड्स बंटवाने का निर्णय लिया है। इसके तहत शिक्षा अधिकारी से छात्राओं की सूची भी मांगी है। इस अभियान की शुरूआत 1 से 5 जून के बीच की जाएगी।

विधायक ने यह संकल्प 20 मई को भास्कर में जयपुर से ‘कोरोना पीरियड की पीडा, राशन तो सब पहुंचा रहे, पर राजस्थान की 75 लाख महिलाओं-लड़कियों को नहीं मिल रहे सेनेटरी पैड’ शीर्षक से प्रकाशित खबर के बाद लिया। उन्होंने किशनगढ़ स्थित सीएससी के स्त्री स्वाभिमान सेनेटरी पैड यूनिट का जायजा लेकर वहां की कार्यप्रणाली को करीब से देखा। टांक ने अपने आवास पर अपने कार्यकर्ताओं और स्टाफ की बैठक ली। महावारी के बारे में जानकारी जुटाई गई तो सामने आया कि भारत की 355 मिलियन महिलाओं में से केवल 12% ही सैनेटरी नैपकिन का उपयोग करती हैं।

कार्यकर्ताओं ने बताया कि भारत में 70% महिलाओं का कहना है कि वे पैड नहीं खरीद सकतीं। ऐसे में किशनगढ़ विधानसभा क्षेत्र में भारी तादाद में महिला कपड़े को उपयोग कर बीमारियों को घर कर रही है। विधायक ने महिला कार्यकर्ताओं से बात कर किशनगढ़ विधानसभा क्षेत्र में जरूरतमंद महिलाओं को निशुल्क सेनेटरी पैड वितरित कराने का निर्णय लिया। वितरण व्यवस्था की मुख्य जिम्मेदारी दीपक मूंदड़ा की दी गई है।  

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना