पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Liquor Is Sold Throughout The Day In Ajmer; Shops Are Open Even After The Stipulated Time, Then Somewhere They Close Shop And Sell Liquor Secretly, They Charge A Higher Rate.

11 बजे बाद दूध, किराना नहीं, लेकिन शराब मिलेगी:भास्कर स्टिंग में देखिए, किस तरह सुबह से लेकर रात तक खुली रहती हैं शराब की दुकानें, मनमाने रेट्स भी वसूल रहे

अजमेर2 महीने पहलेलेखक: सुनिल कुमार जैन

कोरोना के बढ़ते कहर के बीच राज्य में 8 जून तक लॉकडाउन है। सरकार ने जरूरत के सामान की दुकानों के साथ शराब के ठेकों को खोलने का समय भी निर्धारित कर रखा है, लेकिन इन सब के बीच दूध, फल, सब्जी और किराणा की दुकानों को खोलने और बंद करने पर पूरी सख्ती है, लेकिन शराब की दुकानें हर वक्त खुल रही हैं। दैनिक भास्कर के स्टिंग में ये सामने आया।

अजमेर में शराब बिक्री के लिए सुबह छह से 11 बजे तक का समय निर्धारित है। इसके बावजूद यहां पर दिनभर शराब की बिक्री होती है। प्रशासन की ढिलाई के चलते शराब विक्रेताओं के हौसले बुलंद है। यहां तक रात के समय में भी शराब आसानी से मिल रही है। भास्कर ने जब शराब की दुकानों पर पड़ताल की तो ऐसे ही नजारे देखने को मिले। यहां तक की इन दुकानों पर निर्धारित दर से भी ज्यादा कीमत वसूली जा रही थी। इसके बाद भी पुलिस, प्रशासन व आबकारी विभाग कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है।

11.30 बजे : स्टेशन रोड पर खुली मिली दुकान
अजमेर में सुबह 11 बजे तक का दुकानें खुलने के लिए समय निर्धारित है। वहीं, स्टेशन रोड पर बाटा तिराहे के पास वार्ड संख्या 57 की दुकान संख्या 2 सुबह साढ़े ग्यारह बजे तक खुली थी। यहां जब बीयर मांगी गई तो दुकानदार ने पहले ही बता दिया कि डेढ़ सौ रुपए लगेंगे। अजमेर में बीयर की बाजार कीमत 135 रुपए ही है। जबकि यह मुख्य मार्ग है और इसके बावजूद निर्धारित समय के बाद शराब की बिक्री की जा रही थी।

बाहर से गेट बंद, लेकिन साइड के गेट से जाने पर अन्दर खिड़की से मिल जाती है यहां शराब
बाहर से गेट बंद, लेकिन साइड के गेट से जाने पर अन्दर खिड़की से मिल जाती है यहां शराब

12.00 बजे: बंद शराब की दुकान में खिड़की से बिक्री
पुलिस लाइन के पास बोर्ड ऑफिस की तरफ खाली भूखंड पर एक शराब की दुकान तो बंद थी, लेकिन दुकान में पहले से बंद सेल्समैन की ओर से छोटी खिड़की से शराब की बिक्री की जा रही थी। यहां पर जब शराब का पव्वा मांगा तो 300 रुपए देकर पव्वा दे दिया गया। इस पव्वे की रेट 265 रुपए थी, लेकिन ज्यादा वसूला गया। अहम बात यह है कि तीन दिन पहले ही इस दुकान के वीकेंड लॉकडाउन में खुली मिलने पर सीज किया गया था। इसके अलावा दोपहर में 2 बजे और रात में 8 बजे भी शराब आसानी से मिल गई।

यह बोले जिला आबकारी अधिकारी...

इस सम्बन्ध में बात करने पर जिला आबकारी अधिकारी विशाल दवे ने बताया कि निर्धारित समय बाद खोलना व दुकान बंद करने के बाद भी बिक्री करना गलत है। अगर ऐसा है तो कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...