पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मेले के समय भी पुष्कर सूना:पहली बार महास्नान के दिन घाटों पर सन्नाटा; न डुबकी के लिए भीड़, न ब्रह्मा दर्शन के लिए कतारें

अजमेर2 महीने पहले
बीते वर्षों में पुष्कर में करीब 3 लाख तक श्रद्धालु आते थे। इस बार नाम मात्र ही आए।

पुष्कर सरोवर में पंचतीर्थ महास्नान और ब्रह्मा मंदिर समेत अन्य मंदिर में दर्शनों के लिए भक्तों का सैलाब इस साल देखने को नहीं मिला। महास्नान के दौरान खचाखच भरे रहने वाले पुष्कर सरोवर के घाट सूने रहे। जहां बीते सालों में दो से तीन लाख लोग आते थे, उसके मुकाबले इस बार संख्या बेहद कम रही।

पिछले साल पुष्कर में महास्नान के दौरान ऐसे खचाखच भरे थे घाट- फाइल फोटो
पिछले साल पुष्कर में महास्नान के दौरान ऐसे खचाखच भरे थे घाट- फाइल फोटो

पुष्कर मेला में हर साल विभिन्न कार्यक्रम होते थे, लेकिन इस बार कोरोना गाइडलाइन के चलते न तो मेला भरा और न ही कोई आयोजन हुआ। सरोवर में स्नान व मंदिर में दर्शन पर कोई पाबंदी नहीं थी। धार्मिक स्थल खुले रहे और श्रद्धालुओं ने कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए सरोवर में स्नान व मंदिरों में दर्शन किए।

पुष्कर ब्रह्मा मंदिर में भी इस बार नजर नहीं आई भीड़।
पुष्कर ब्रह्मा मंदिर में भी इस बार नजर नहीं आई भीड़।

छह दिन का हुआ स्नान
धार्मिक मान्यता के मुताबिक, कार्तिक शुक्ल एकादशी से पूर्णिमा तक ब्रह्माजी ने पुष्कर सरोवर में सृष्टि यज्ञ किया था। इसी के चलते यहां हर साल पांच दिन का स्नान होता था, लेकिन इस बार बारस दो दिन की होने के कारण स्नान छह दिन का हुआ। कार्तिक मास की देव प्रबोधिनी एकादशी से शुरू हुए पंचतीर्थ स्नान का समापन सोमवार को महास्नान के साथ हो गया।

पिछले सालों जो भीड़ पुष्कर के बाजारों में रहती थी, इस बार वह नजर नहीं आई।
पिछले सालों जो भीड़ पुष्कर के बाजारों में रहती थी, इस बार वह नजर नहीं आई।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपने अपनी दिनचर्या से संबंधित जो योजनाएं बनाई है, उन्हें किसी से भी शेयर ना करें। तथा चुपचाप शांतिपूर्ण तरीके से कार्य करने से आपको अवश्य ही सफलता मिलेगी। परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर ज...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser