पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Medical Counseling To Patients Over The Phone; Counseling Taxes Are Increasing, Home Remedies Are Telling To Increase Immunity

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अजमेर में मरीजों को फोन पर परामर्श:मददगार बनी आयुष विभाग की पहल; काउंसलिंग कर डॉक्टर्स बढ़ा रहे हौसला, इम्यूनिटी बढ़ाने के बता रहे घरेलू नुस्खे

अजमेर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

आयुष विभाग की ओर से एक सप्ताह पहले शुरू की गई आयुष हेल्पलाइन कोरोना मरीजों के लिए मददगार साबित हो रही है। विशेषकर उन मरीजों के लिए जो कोरोना पॉजिटिव आने पर होम आइसोलेट हैं। ऐसे मरीजों को आयुष चिकित्सक फोन पर ही चिकित्सीय परामर्श देकर उनका मार्गदर्शन के साथ ही हौसला बढ़ाने में भी सहयोग कर रहे हैं। इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए मरीजों को घरेलू नुस्खे भी बताए जा रहे हैं।

JLN अस्पताल के यूनानी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉक्टर मोहम्मद रोशन ने बताया कि इस सुविधा को शुरू कर विभाग ने उन लोगों को राहत दी है, जिन्हें बीमार होने पर डॉक्टर तक दौड़ लगाने की जरूरत होती है। 25 अप्रैल से ‘डॉक्टर ऑन कॉल’ सेवा शुरू हुई, लेकिन एक ही सप्ताह में 1500 से अधिक मरीजों को इसका फायदा मिला है। इनमें से अधिकांश मरीज ऐसे हैं जो कोरोना से संक्रमित होने के बाद घर पर आइसोलेट होकर अपना इलाज ले रहें हैं।

हेल्प डेस्क में कोरोना संभावित लक्षण वाले लोग भी सलाह ले रहें है तथा सामान्य स्वास्थ्य से संबंधित परेशानियों का भी इस डेस्क के जरिए सलाह दी जा रही है। हेल्प डेस्क का फायदा शहर के विभिन्न क्षेत्रों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्र के लोग भी उठा रहे हैं। ब्यावर, किशनगढ़, सरवाड़, केकड़ी, नसीराबाद, पीसांगन, बिजयनगर आदि क्षेत्रों से भी मरीजों के फोन कॉल आ रहे हैं।

मरीजों की जारी है काउंसलिंग
कोविड-19 क्या है, इसके क्या लक्षण है और यह कैसे फैलता है, इससे निजात पाने के लिए हमें क्या क्या सावधानी बरतनी चाहिए तथा इसका इलाज व उपचार और रोकथाम क्या है? तनाव व क्रोध व्यवहार में व्यक्तिगत परामर्श आदि महत्वपूर्ण बिंदुओं पर इनकी काउंसलिंग की जा रही है। कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों में सांस लेने, सूखे कफ बनने, फेंफड़ों में सिकुड़न, बदन दर्द और ऑक्सीजन की कमी जैसी शिकायतें सामने आ रही हैं। इनके बारे में भी उन्हें उचित उपचार बताया जा रहा है।

ये दिए जा रहे हैं परामर्श
डॉ.रोशन ने बताया कि अधिकतर मरीज सर्दी जुकाम, पेट में आफरा, खांसी आदि की शिकायत कर रहे हैं। जिन मरीजों को आइसोलेट हुए 14 दिन पूरे हो गए, ऐसे मरीज का शरीर स्वस्थ रहे और कमजोरी दूर हो इसके लिए परामर्श मांग रहे हैं। मरीजों को अधिकांश घरेलू नुस्खे ही बताए जा रहे हैं।

  • पेट में आफरा की शिकायत होने पर अजवायन का पानी लेने को कहा जा रहा है।
  • खांसी जुकाम होने पर गर्म दूध में हल्दी मिला कर पीने, यूनानी की कुछ प्रचलित दवाएं जैसे लऊक सपिस्तां, शरबत बनफशा, जोशीना आदि की सलाह दी जा रही है।
  • ठंड देकर बुखार आ रहा है तो हल्दी, सौंफ व जीरे का पाउडर के उपयोग की सलाह दी जा रही है। यूनानी जोशांदा भी सजेस्ट किया जा रहा है। इसे बनाने का तरीका भी बताया जा रहा है।

ऐसे बना सकते हैं यूनानी जोशांदा

आधा गिलास पानी में 15-20 तुलसी के पत्ते, 1 इंच अदरक ताजी, आधा छोटा चम्मच हल्दी पाउडर, 8-10 काली मिर्च, आधा छोटा चम्मच दाल चीनी पाउडर, 3-4 लौंग, दो चुटकी काला / सफेद नमक, 1-2 इलाइची, आधा चम्मच देशी अजवाईन , 1 चुटकी जायफल-पिसा हुआ डालकर 10-15 मिनट तक उबालें ।फिर हल्का गर्म -गर्म 15 - 15 एमएल सुबह शाम पिएं।

इन नंबरों पर किया जा सकता है संपर्क
हेल्पलाइन के जरिए सुबह 8 से दोपहर 2 बजे तक डॉ हरिओम शर्मा ( आयुर्वेद) दूरभाष नम्बर 9001613762, डॉ शमसुद्दीन ( यूनानी) दूरभाष नम्बर 9929089007, डॉ आलोक कुमार वर्मा ( होम्योपैथी) दूरभाष नम्बर 9414272787 तथा दोपहर 2 से रात 8 बजे तक डॉ सरोज चौधरी ( आयुर्वेद) दूरभाष नम्बर 9829691180, डॉ मोहम्मद रोशन ( यूनानी) दूरभाष नम्बर 9352547335, डॉ अनूप कूलश्रेष्ठ ( होम्योपैथी) दूरभाष नम्बर 9414300422 से मरीज चिकित्सा परामर्श ले सकते हैं।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- सकारात्मक बने रहने के लिए कुछ धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करना उचित रहेगा। घर के रखरखाव तथा साफ-सफाई संबंधी कार्यों में भी व्यस्तता रहेगी। किसी विशेष लक्ष्य को हासिल करने ...

और पढ़ें