BSF के रिटायर्ड जवान से ऑनलाइन ठगी:अजमेर से जयपुर जाते समय चुराया मोबाइल, फिर नेट बैंकिंग व ATM से निकाले ढाई लाख रुपए

अजमेर5 महीने पहले
डेमो पिक। - Dainik Bhaskar
डेमो पिक।

सीमा सुरक्षा बल से रिटायर्ड जवान का रोडवेज बस से मोबाइल चोरी करने व बाद में नेटबैंकिंग व एटीएम से ढाई लाख रुपए की ठगी करने का मामला सामने आया है। पीड़ित की रिपोर्ट पर सिविल लाइन थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

प्रताप नगर लोहाखान अजमेर निवासी सीमा सुरक्षा बल से रिटायर्ड राम सिंह शेखावत (64) पुत्र बदन सिंह राजपूत ने रिपोर्ट देकर बताया कि वह 19 जनवरी को रोडवेज बस स्टैंड अजमेर से शाम करीब साढे़ चार बजे जयपुर पहुंचा। तब पता चला कि उसका मोबाइल चोरी हो गया है। इसमें बीएसएनएल व जीओ कंपनी की सिम थी। जो चालू हालत में थी। इसके बाद वह अपने बच्चे के पास गोविन्दपुरा जयपुर चला गया।

21 जनवरी को जयपुर में दो नए सिम कार्ड जारी करवाए। फिर 22 जनवरी को अपनी पत्नी के मोबाइल फोन में ये सिम डालकर नेट बैंकिंग चालू की तो पता चला कि एटीएम व बैंक खातों से नेट बैंकिंग के जरिए पैसे निकाल कर ठगी की गई।

मोबाइल से ही करता था लेन देन

रामसिंह ने बताया कि वह मोबाईल से नेटबैंकिंग व फोन पे से लेन देन का कार्य करता था। मोबाईल के कवर में एसबीआई बैंक का एटीएम कार्ड भी था, जो मोबाईल के साथ ही चोरी हो गया था। उसका मोबाईल अनलॉक था तथा मोबाईल फोन के अन्दर ही एटीएम कार्ड के पिन नम्बर सेव कर रखे थे।

बैंक में आकर ली जानकारी

इसके बाद जयपुर से अजमेर आ गया। तब बैंक खातो के संबंध में बैंक में जाकर जानकारी प्राप्त की तो पता चला कि 19 जनवरी को नेट बैंकिंग के जरिए 15 हजार, एक अन्य खाते से 50 हजार व 20 जनवरी को 1 लाख रुपए निकासी की गई। इसके बाद 25 हजार, 25 हजार, 10 हजार 500, 15 हजार रुपए विड्रोल किए गए। ऐसे कुल 2 लाख 40 हजार 500 रुपए निकाले।

मामला दर्ज कर कार्रवाई हो

रामसिंह ने बताया कि इसके बाद उसने नेट बैंकिंग व एटीएम को बंद करा दिया। सिविल लाइन थाने में शिकायत देकर आरोपी पर मामला दर्ज कर कार्रवाई करने की मांग की है।