• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Nursing Is Not A Cradle, Nursing Has Locked The Gate, 8 Nursing Superintendents Have Been Appointed In JLN, Despite This, The Second Grade Personnel Are Applying Duty.

जूनियर लगा रहे हैं सीनियर की ड्यूटी:राेस्टर की पालना नहीं, नर्सिंग ने गेट पर जड़ा ताला, जेएलएन में 8 नर्सिंग अधीक्षक लगाए गए हैं, इसके बावजूद सैकंड ग्रेड कर्मी लगा रहा है डयूटी

अजमेर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जेएलएन अस्पताल में बुधवार काे नर्सिंगकर्मियाें की ड्यूटी लगाए जाने काे लेकर आक्राेशित नर्सिंगकर्मियाें ने नर्सिंग अधीक्षक कक्ष के बाहर चैनल गेट पर ताला जड़ दिया। नर्सिंगकर्मी पिछले कुछ माह से हाजिरी काे लेकर खासा राेष जता रहे थे। ​​​​​​​विराेध कर रहे नर्सिंगकर्मियों ने बताया कि नर्सिंग अधीक्षक कक्ष में सैकंड ग्रेड के जूनियर नर्सिंगकर्मी बैठे हुए हैं। कुछ समय पहले यह नियमित हुए हैं। जाे सालाें से प्रथम श्रेणी के हैं, वह ताे वार्ड में काम कर रहे हैं और यह उन्हें डयूटी बता रहे हैं कि कहां पर उन्हे डयूटी करनी है। नर्सिंगकर्मियाें ने आराेप लगाया कि राेस्टर प्रणाली के नियमाें की पालना नहीं हाे रही है।

एक आरोप यह भी - एक ही नर्सिंग काे लगातार काेविड वार्ड में लगाया जा रहा है

काेविड नियमाें के तहत नर्सिंगकर्मी 14-14 दिन की प्रणाली से लगने चाहिए लेकिन यहां एक ही नर्सिंग काे लगातार काेविड वार्ड में लगाया जा रहा है। कई पाॅजिटिव हाे गए लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हाे रही है। नियमाें के तहत काेविड में काम करने के बाद सात दिन का अवकाश व बाद में सस्पेक्ट वार्ड में लगाया जाता है, लेकिन यहां पर इन नियम की नर्सिंग अधीक्षक की ओर से पालना नहीं की जा रही है। नर्सिंगकर्मियाें का आराेप है कि जाे अधिकारियाें के खास हैं उन्हें आउटडाेर व सिलेंडर के कार्य में लगाया गया है। नर्सिंग प्रथम ग्रेड के डेढ़ साै से अधिक कार्मिक हैं जाे वार्ड व दूसरी जगह कार्य कर रहे हैं।

गेट पर ताला लगाने के बाद नर्सिगकर्मियाें ने कहा कि ऐसे हालात रहे ताे वे काेविड में काम का बहिष्कार कर देंगे। इस मामले में अस्पताल अधीक्षक से मुलाकात कर हस्तक्षेप की मांग की गई। नर्सिंगकर्मियाें ने कहा कि जेएलएन में गत दिनाें सरकार ने यहां आठ नर्सिंग अधीक्षक नए लगाए हैं। नियमाें के तहत उन्हें डयूटी लगाई जानी चाहिए।

खबरें और भी हैं...