एजुकेशन:अलग-अलग विषयाें के डेढ़ हजार वीडियाे अपलाेड, लेकिन विद्यार्थी नहीं ले रहे रुचि

अजमेरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

लाॅकडाउन में विषयवार लेक्चर्स के वीडियाे अपलाेड करने की मेहनत के बाद भी शिक्षकाें काे उचित रिस्पांस नहीं मिल पा रहा है। हर संकाय के अलग अलग विषयाें के यूट्यूब चैनल हाेने के बाद भी विद्यार्थी रुचि नहीं दिखा रहे हैं।हालांकि यह वीडियाे हमेशा या लंबे समय पर चैनल पर रहेंगे, एेसे में इनका फायदा कभी भी उठाया जा सकता है, लेकिन जीसीए के विद्यार्थियाें ने इस सत्र में वीडियाे लेक्चर से लगभग दूरी ही बनाए रखी है। एसपीसी जीसीए में यूं ताे 22 विषय संचालित हैं।

इनमें से 19 प्रमुख विषयाें के शिक्षक अपने समय पर हर दिन लेक्चर रिकाॅर्ड करके अपने अपने विषयाें के लिए बने यूट्यूब चैनल्स पर अपलाेड कर रहे हैं। ग्रीष्मावकाश खत्म हाेने के बाद से पिछले शनिवार तक जीसीए के शिक्षकाें ने 1285 वीडियाे अलग अलग टाॅपिक पर अपलाेड किए थे। लेकिन इनमें से किसी भी विषय के टाॅपिक में विद्यार्थियाें की संख्या के बराबर भी न ताे सब्सक्राइबर्स मिले न व्यूअर्स ही मिल रहे हैं। जबकि हर शिक्षक क्लास रूम में की तरह ही पढ़ाकर अपने वीडियाे डाल रहे हैं। विद्यार्थियाें की यह बेरुखी शिक्षकाें काॅलेज प्रशासन काे भी अखर रही है।

बताया जाता है कि काॅलेज प्रशासन अब प्रवेश प्रक्रिया के बाद हर विद्यार्थी काे जरूरी रूप से अपने अपने विषय के चैनल से जाेड़ने की कवायद करेगा। स्थिति यह है कि साइंस के विद्यार्थी भी अपने विषयाें के लेक्चराें काे नहीं देख सुन रहे हैं। किसी लेक्चर काे 2 व्यूवर्स मिले हैं ताे किसी काे 10 व्यूअर्स भी मिले हैं। हालांकि शिक्षक अपना काम लगातार कर रहे हैं। 

खबरें और भी हैं...