• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • One Hundred And Fifty Dengue Patients Were Found In The District In The Last Two Months, Fear Even In The Posh Colonies

बदलते मौसम का असर:जिले में पिछले दो माह में ही डेंगू के डेढ़ सौ रोगी मिले, पाॅश काॅलाेनियाें में भी डर

अजमेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इस साल जनवरी से अगस्त तक डेंगू के मात्र 53 मरीज मिले थे - Dainik Bhaskar
इस साल जनवरी से अगस्त तक डेंगू के मात्र 53 मरीज मिले थे
  • इस साल जनवरी से अगस्त तक डेंगू के मात्र 53 मरीज मिले थे

जिले में दो साल बाद फिर डेंगू का डर गहरा रहा है। पिछले दो माह के दौरान ही डेढ़ सौ से ज्यादा डेंगू रोगी सामने आए हैं, जबकि जनवरी से अगस्त तक 8 माह के दौरान डेंगू पीड़ितों के मात्र 53 मामले ही सामने आए थे। इस साल अब तक 203 लोग डेंगू से पीड़ित हो चुके हैं। यह आंकड़ा पिछले आठ साल के दौरान वर्ष 2019 के बाद सर्वाधिक है। गौरतलब है कि वर्ष 2019 में 480 डेंगू रोगी मिले थे। इसके अलावा जिले में वर्ष 2014 से अब तक कभी भी डेंगू रोगियों का आंकड़ा डेढ़ सौ के पार नहीं पहुंचा है।

जेएलएन समेत अन्य अस्पतालों के आउटडोर और वार्डों में रोगी बढ़े

जेएलएन अस्पताल के शिशु यूनिट से लेकर मुख्य इमारत के सभी मेडिसिन व सर्जरी के वार्ड डेंगू-डायरिया, पीलिया, निमोनिया व अन्य मौसमी बीमारियों के रोगियों की संख्या अचानक बढ़ गई है। यहां आउटडोर में भी मौसमी बुखार के रोगियों का तांता लग रहा है। जेएलएन के मेडिसिन यूनिट के चिकित्सक जांच करवा रहे हैं ताे मरीजाें में डेंगू की रिपाेर्ट भले ही निगेटिव आ रही है, लेकिन क्लिनिकल स्थित पाॅजीटिव है। डेंगू का असर दाे दिन बाद खत्म हाे जाता है लेकिन दवा लंबे समय तक चलती है। इसी कारण मरीजाें काे भर्ती किया जा रहा है। कई मरीजाें काे डेंगू, पीलिया की भी शिकायत सामने अा रही है।

जगह-जगह गड्‌ढों पनप रहा लार्वा

अमूमन कबाड़ और बारिश के दौरान भरे पानी के आसपास मंडराने वाला डेंगू अब शहर की पॉश कॉलोनियों में भी दस्तक दे रहा है। दरअसल इस बार लगातार अक्टूबर माह तक हुई बरसात और शहर में चल रहे निर्माण कार्याें के कारण शहर में कई जगह सड़कें खुदी हुई हैं। जगह-जगह गड्‌ढे हाेने से इनमें पानी भी जमा हो रहा है। ये गड्‌ढे लार्वा पनपने की पनाहगार साबित हाे रहे हैं।

शहर की सबसे बड़ी चन्द्रवरदाई नगर काॅलाेनी से लगातार डेंगू के मरीज आ रहे हैं। यही स्थिति वैशाली नगर, माकड़वाली राेड, पंचशील, सागर विहार, धाेलाभाटा व ज्ञान विहार से आ रही है। यहां काफी तादाद में डेंगू के मरीज मिल रहे हैं।

ये हैं डेंगू बुखार के लक्षण | अचानक तेज बुखार आना, सिर में आगे की आर तेज दर्द, आंखाें के पीछे दर्द ओर आंखाें के हिलने से दर्द में में ओर तेजी, मांसपेशियाें व जाेड़ाें में दर्द, स्वाद का पता न चलना, छाती ओर ऊपरी अंगाें पर दाने हाेना, उलटी की शिकायत।

कहीं काेराेना ने स्वरूप ताे नहीं बदला? आमजन लगातार बढ़ते जा रहे डेंगू के मामलाें के बाद इसे काेराेना के स्वरूप बदलने के रूप में देख रहे हैं। इस मामले में जेएलएन के नोडल ऑफिसर डॉ. अनिल सामरिया का कहना है कि डेंगू और कोरोना दोनों के लक्षण पूरी तरह अलग हैं। इस कारण ऐसे कोविड के बदलते स्वरूप की आशंकाओं ने नहीं जोड़ा जा सकता है।

आंकड़ाें की जुबानी
साल मरीज
2014 13
2015 272
2016 122
2017 121
2018 144
2019 480
2020 16
2021 203

खबरें और भी हैं...