लोन ऐप का टॉर्चर, रेपिस्ट-हत्यारा बताया:बैंक एम्पलॉई को बनाया शिकार; परिवार को भेज रहे अश्लील मैसेज

अजमेर4 महीने पहले

बोगस लोन ऐप कंपनियां लगातार लोगों को अपना शिकार बना रही हैं। अलग-अलग ऐप स्टोर पर अपलोड ऐसे एप्लीकेशन बिना किसी रेगुलेशन के ऑपरेट हो रही हैं। ये ऐप फाइनेंशियल ब्लैकमेलिंग के साथ दूसरे तरीकों से भी लोगों को टॉचर कर रही हैं। इनमें पीड़ित को बदनाम करने जैसी एक्टिविटी भी शामिल हैं।

ऐसा ही एक मामला अजमेर में सामने आया है। यहां HDFC बैंक के एक कर्मचारी को दत्ता रुपए (DUTTA RUPEE) एप्लिकेशन पर लोन के लिए लॉगिन करना भारी पड़ गया। बदमाश पीड़ित का फोन हैक कर उसे अश्लील मैसेज भेजकर ब्लैकमेल कर रहे हैं। इसके साथ ही उसके परिचितों को भी पीड़ित की फोटो भेजकर उसे हत्यारा और रेपिस्ट बताया जा रहा है। परिचितों से परिवार को सुरक्षित रखने के लिए कहा जा रहा है। पीड़ित कर्मचारी ने परेशान होकर सिविल लाइंस थाने में मुकदमा दर्ज करवाया है।

कायड़ रोड घुघरा निवासी बैंक कर्मचारी ने बताया कि उसने मोबाइल से प्ले स्टोर के जरिए दत्ता रुपए एप्लिकेशन डाउनलोड की। एप्लिकेशन में लॉगिन करने के बाद उसने सभी परमीशन दे दी। इसके बाद से उसे अलग-अलग नंबरों से मैसेज और कॉल कर परेशान किया जा रहा है।

परिचितों को भेजे जा रहे मैसेज के कारण पीड़ित बैंक कर्मचारी तनाव में आ गया है।
परिचितों को भेजे जा रहे मैसेज के कारण पीड़ित बैंक कर्मचारी तनाव में आ गया है।

70 से 80 नंबर से आए कॉल और मैसेज
पीड़ित बैंक कर्मचारी ने बताया कि एप्लिकेशन की सेटिंग पर दिए ऑप्शन को एलॉओ करने के बाद उसे 80 से ज्यादा नंबरों से अश्लील मैसेज और कॉल किए जा रहे हैं। पीड़ित ने यह सभी नंबर पुलिस को उपलब्ध करवाए हैंं। मामले की शिकायत सिविल लाइन थाने में दर्ज करवाई है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

परिचितों को बताया हत्यारा और बलात्कारी
पीड़ित बैंक कर्मचारी ने बताया कि बदमाशों ने उसकी भाभी और अन्य परिचितों को मैसेज कर रहे हैं। इसमें अज्ञात नंबरों से परिचितों को उसकी फोटो भेजकर हत्यारा और रेपिस्ट बताया जा रहा है। पीड़ित ने बदमाशों की इन हरकतों से परेशान होकर जिला पुलिस से न्याय की गुहार लगाई है।

अलग-अलग नंबरों से किए जा रहे मैसेज।
अलग-अलग नंबरों से किए जा रहे मैसेज।

पीड़ित के परिचितों को दिया लालच
बैंक कर्मचारी ने बताया कि बदमाशों द्वारा उसके परिवार और अन्य सदस्यों को मैसेज भेजकर कहा जा रहा है कि इस व्यक्ति से अपने परिवार को सुरक्षित रखें। इसके साथ ही पीड़ित की फोटो और पैन कार्ड आईडी को टारगेट करके पीड़ित के मिलने वालों को मैसेज भेजे जा रहे हैं। उन्हें बदमाशों की ओर से लिखा जा रहा है कि इस व्यक्ति को रंगे हाथों पकड़ लेने पर 25 हजार का इनाम दिया जाएगा। पीड़ित की शिकायत पर सिविल लाइन थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस का कहना है कि ऐसी किसी भी ऐप पर अपनी पर्सनल जानकारी शेयर करने से पहले उसके बारे में पूरी जानकारी जुटा लें।
पुलिस का कहना है कि ऐसी किसी भी ऐप पर अपनी पर्सनल जानकारी शेयर करने से पहले उसके बारे में पूरी जानकारी जुटा लें।