आर्मी का जवान बनकर ठगी:मकान को रेंट पर लेने का दिया झांसा, रिटायर्ड रेलवे कर्मचारी के साथ हुई ऑनलाइन ठगी

अजमेर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

अजमेर में रिटायर्ड रेलवे कर्मचारी के साथ ठगी की वारदात सामने आई। बदमाश ने आर्मी जवान बनकर ठगी की वारदात को अंजाम दिया। पीड़ित द्वारा मकान रेंट पर देने के लिए सोशल मीडिया पर पोस्ट डाली गई थी। जिसका फायदा उठाकर बदमाश ने वारदात को अंजाम दिया।

मामले की जांच कर रहे ASI मंगाराम ने बताया कि बालूपुरा आदर्श नगर निवासी पीड़ित रिटायर्ड रेलवे कर्मचारी विनोद जैन के पुत्र विकास जैन ने थाने पर ऑनलाइन ठगी की शिकायत दर्ज करवाई है। पीड़ित ने दी शिकायत में बताया कि उसका हरीभाऊ उपाध्याय नगर में मकान है। मकान को रेंट पर देने के लिए सोशल मीडिया पर पोस्ट डाली थी। जिसके बाद आर्मी का जवान बनकर एक फोन आया और मकान रेंट पर लेने की बात कही। बदमाश ने पीड़ित रिटायर्ड कर्मचारी को अहमदाबाद से अजमेर ट्रांसफर होने का झांसा दिया और कहां की उन्हें रेंट पर मकान लेने से पहले रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ता है।

पीड़ित ने बदमाश के झांसे में आकर रजिस्ट्रेशन किया और उसके अकाउंट में अलग-अलग ट्रांजैक्शन के माध्यम से 1 लाख रुपए डाल दिए। बदमाश अपने अकाउंट में पैसे आने के बाद फोन को बंद कर दिया। जिसके बाद पीड़ित को अपने साथ ऑनलाइन ठगी होने की जानकारी प्राप्त हुई। पीड़ित रिटायर्ड कर्मचारी ने मामले की शिकायत आदर्श नगर थाना पुलिस को दी है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।