पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Online Modification Of Examination Documents Will Be Done; By Doing This The Country's First Board, The Candidate Does Not Need To Visit The Office

स्टूडेंट्स को नहीं लगाने पड़ेंगे RBSE ऑफिस के चक्कर:मार्कशीट समेत अन्य दस्तावेजों में ऑनलाइन करा सकेंगे करेक्शन, ऐसी सुविधा देने वाला राजस्थान देश का पहला राज्य

अजमेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने कोरोना के दौर में छात्रों के लिए सकारात्मक पहल की है। अब छात्र मार्कशीट समेत अन्य दस्तावेजों में ऑनलाइन करेक्शन करा सकेंगे। पहले छात्रों के लिए करेक्शन कराने किले बोर्ड ऑफिस के चक्कर काटने पड़ते थे। इस फैसले के बाद संभवत: राजस्थान इस तरह की सुविधा देने वाला देश का पहला राज्य है।

बोर्ड अध्यक्ष डॉ. डी.पी. जारोली ने बताया कि बोर्ड परीक्षा में प्रतिवर्ष बैठने वाले लाखों अभ्यर्थियों को परिणाम घोषणा के बाद यह महसूस होता है कि उनके परीक्षा दस्तावेजों में स्वयं का नाम, पिता अथवा माता के नाम में त्रुटि है। इसके बाद उसे सही कराने के लिए बोर्ड के मुख्यालय आना पड़ता है। कई बार ये प्रोसेस लंबी हो जाती है, इसके वजह से छात्रों के कई चक्कर काटने पड़ते हैं।

मेल पर भेजने होंगे डॉक्यूमेंट्स
नई प्रक्रिया के मुताबिक, करेक्शन कराने के लिए छात्रों को बोर्ड की मेल आईडी पर सभी दस्तावेज भेजने होंगे। बोर्ड की मेल आईडी bserddexam2@gmail.com है। एप्लीकेशन में साफ करना होगा कि क्या करेक्शन कराना है। इसके साथ स्कूल का रिकॉर्ड, जरूरी दस्तावेज समेत स्कूल ट्रांसफर सर्टिफिकेट भी अपलोड करना होगा। बोर्ड कार्यालय द्वारा उक्त मेल प्राप्त होने के पश्चात प्रारम्भिक जांच के लिए शाखा में भेजा जाएगा। यदि प्रारम्भिक जांच में यह पाया गया कि संशोधन उचित है तो 24 घंटे में प्रार्थना पत्र में दिए गए ई-मेल आई.डी. अथवा मोबाइल नम्बर पर निर्धारित संशोधन शुल्क ऑनलाइन पोर्टल पर जमा कराकर चालान निकालने के लिए निर्देश दिए जाएंगे।

यह भी रहेगी व्यवस्थाएं

  • यदि संशोधन स्वयं/पिता/माता के नाम में है, तो उक्त चालान तथा मूल अंकतालिका/प्रमाण पत्र बोर्ड कार्यालय को स्पीड पोस्ट से उप निदेशक परीक्षा माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान, अजमेर को भेजना होगा।
  • जन्मतिथि में संशोधन का प्रकरण है तो प्रारम्भिक जांच में उचित पाए जाने पर छात्र को निर्धारित दिवस को मूल शाला रिकॉर्ड के साथ बोर्ड कार्यालय में उपस्थित होने के लिए निश्चित तिथि और समय दिया जाएगा।
  • जांच के पश्चात विद्यार्थी को चाहा गया संंशोधित दस्तावेज 15 कार्य दिवस में उसके निवास के पते पर स्पीड पोस्ट से भेज दिया जाएगा।

बोर्ड ने बनाई हेल्प डेस्क

डॉ. जारोली ने बताया कि बोर्ड ने इस कार्य के लिए एक हेल्प डेस्क भी बनाई है, जिसका नम्बर 0145-2945678 एवं 0145-2627376 है।

काेरोनाकाल में ये भी दी राहत

डॉ. जारोली ने बताया कि कोविड काल में विद्यार्थियों और शिक्षकों की सुविधा के लिए बोर्ड की कईं व्यवस्थाओं को ऑनलाईन किया है, जिसमें मुख्यतः ऑनलाईन प्रतिलिपि, मार्कशीट/प्रमाण पत्र के लिए आवेदन स्वीकार करना, बोर्ड सम्बद्धता के लिए ऑनलाईन आवेदन, बोर्ड परीक्षा से जुुडे़ शिक्षकों और परीक्षा केन्द्रों का ऑनलाईन भुगतान किया जाना प्रमुख है।

बोर्ड ने पिछले एक वर्ष में राजस्थान बोर्ड की विगत परीक्षाओं में शामिल एक करोड से अधिक परीक्षार्थियों के परीक्षा प्रमाण पत्र डिजीलॉकर में उपलब्ध करा दिए है।

इसके अतिरिक्त बोर्ड परीक्षकों से परीक्षार्थियों के प्रायोगिक, सैद्धांतिक और सत्रांक के प्राप्तांक भी ऑनलाईन मंगवाने की प्रक्रिया प्रारम्भ की जा चुकी है।

खबरें और भी हैं...