पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Pilot Supporter Underground, Gehlot Supporter Said ... Those Who Were Not Close To The Party, It Was Necessary To Teach Them A Lesson

राजनीति:पायलट समर्थक अंडरग्राउंड, गहलोत समर्थक बोले... जो पार्टी के सगे नहीं, उन्हें सबक सिखाना जरूरी था

अजमेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • समर्थकों को पायलट की आज होने वाली प्रेस काॅन्फ्रेंस का इंतजार
  • पीसीसी चीफ पद से हटाने के बाद भी शहर कांग्रेस दफ्तर पर लगा रहा सचिन पायलट का होर्डिंग

प्रदेश की राजनीति में आए भूचाल का अजमेर जिले में भी व्यापक असर पड़ा है। इसकी वजह यह है कि शहर और देहात कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद पर सचिन पायलट समर्थक लंबे समय से काबिज हैं। वहीं, अजमेर के दोनों विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस के प्रत्याशी भी पायलट खेमे से रहे हैं। मसूदा विधायक राकेश पारीक भी पायलट गुट के विधायकों में शामिल हैं। वहीं किशनगढ़ के विधायक सुरेश टांक निर्दलीय विधायक के रूप में रहे, लेकिन जिस तरह विधायकों को तोड़ने में उनका नाम आया उसके बाद से उन्होंने भी मोबाइल स्वीच ऑफ किया हुआ है। इस तरह देखा जाए तो शहर और देहात में कांग्रेस की राजनीति में सचिन पायलट का गहरा असर रहा है। लेकिन मौजूदा घटनाक्रम से इस पूरे खेमे में गहरी मायूसी छा गई है और सभी समर्थक अंडरग्राउंड हो गए हैं।   पायलट को कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष पद के साथ ही उप मुख्यमंत्री पद से हटाए जाने के बाद पायलट समर्थकों ने अपने मोबाइल फोन स्वीच ऑफ कर लिए हैं। शहर अध्यक्ष विजय जैन के दो मोबाइल नंबर पर लगातार संपर्क करने का प्रयास किया लेकिन फोन स्वीच ऑफ रहा। यही स्थिति कांग्रेस देहात अध्यक्ष की भूपेंद्र सिंह राठौड़ की है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव के साथ ही उत्तर विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के प्रत्याशी रहे महेंद्र सिंह रलावता ने भी चुप्पी साध रखी है। इधर, उद्योगपति व दक्षिण विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के प्रत्याशी रहे हेमंत भाटी ने भी मौजूदा घटनाक्रम पर कुछ भी कहने से इंकार कर दिया है। 

समर्थकों ने अशोक गहलोत को बताया सूझबूझ वाला नेता 
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के समर्थक पूर्व विधायक डॉ. राजकुमार जयपाल, डॉ. श्रीगाेपाल बाहेती, पूर्व विधायक ललित भाटी सहित अन्य ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद पर गोविंद डोटासरा की नियुक्ति का स्वागत किया है। इन कांग्रेस नेताओं का कहना है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सूझबूझ कर परिचय देते हुए कांग्रेस की सरकार को मजबूती प्रदान की है, वहीं कुछ कांग्रेस विधायक भाजपा के छलावे में फंस गए हैं जो ठीक नहीं है।

गहलोत समर्थकों ने पायलट सहित अन्य मंत्रियों को पद से हटाए जाने को सही बताते हुए कहा कि जो पार्टी के सगे नहीं हुए उन्हें बहुत सोच समझकर सबक सिखाया गया है।  इन नेताओं ने कहा कि शीर्ष नेतृत्व ने लगातार प्रयास किए कि पार्टी से बगावत करने वाले लोग वापस लौट आएं और अपनी बात उचित मंच के माध्यम से रखें लेकिन उन्होंने शीर्ष नेतृत्व की भी अनदेखी की और कांग्रेस की रीति नीति के विपरीत जाकर कार्य किया। ऐसे लोगों के लिए कांग्रेस पार्टी में कोई जगह नहीं है और उन्होंने जनता में भी अपना विश्वास खो दिया है।

युवकों ने दफ्तर के बाहर किया हंगामा 
केसरगंज स्थित कांग्रेस कार्यालय पर मंगलवार को ताला लटका रहा। बंद कार्यालय के बाहर गुर्जर समाज से जुड़े कुछ युवकों ने हंगामा किया और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ नारे लगाए। पुलिस ने तत्काल ही युवकों को वहां से खदेड़ दिया। क्लाॅक टावर थाना प्रभारी सूर्यभान के अनुसार ये लोग कथित रूप से खुद को एनएसयूआई के पदाधिकारी बता रहे थे और सचिन पायलट के समर्थन में इस्तीफा देने की मंशा जाहिर कर रहे थे। 
शहर कांग्रेस महासचिव ने फेसबुक पर दिया इस्तीफा 
शहर कांग्रेस के महासचिव प्रताप यादव ने अपने फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट डाली, जिसमें सचिन पायलट के प्रदेशाध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद नैतिकता के आधार पर खुद भी इस्तीफा देने की बात कही है। वहीं अन्य महासचिव ललित भटनागर ने स्वयं को पायलट समर्थक जरूर बताया लेकिन इस्तीफा नहीं दिया है। 
समर्थकों का फूटा गुस्सा 
केकड़ी के निकट टांटाेटी में सचिन पायलट को डिप्टी सीएम व कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष के पद से हटाए जाने से नाराज गुर्जर समाज के लोगों ने रोष प्रकट कर अशोक गहलोत का पुतला फूंक कर विरोध जताया। पायलट समर्थक गुर्जर समाज के लोगों ने देवसेना तहसील उपाध्यक्ष जसराज गुर्जर के नेतृत्व में टांटोटी मेें केबानिया तिराहे पर एकत्रित होकर सचिन पायलट जिंदाबाद के नारे लगाए। प्रदेश कांग्रेस सेवादल के उपाध्यक्ष रामपाली निवासी सांवरलाल गुर्जर ने पायलट के साथ किए गए व्यवहार की निंदा की है। उन्हाेंने कहा कि ऐसे निष्ठावान पदाधिकारी के साथ किया गया व्यवहार बर्दाश्त योग्य नहीं है। इसलिए वे भी कांग्रेस से इस्तीफा देंगे, क्योंकि सेवादल प्रदेशाध्यक्ष राकेश पारीक अपने पद से बर्खास्त कर दिए गए हैं। उल्लेखनीय है कि गुर्जर को पारीक ने  ही उपाध्यक्ष बनाया था और वे सचिन पायलट के भी नजदीकी हैं। सांवरलाल गुर्जर ने कांग्रेस के रवैये पर नाराजगी जताई है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय आर्थिक पक्ष पहले से अधिक सक्षम और सुदृढ़ स्थिति में रहेगा। कुछ समय से चल रही चिंताओं से राहत मिलेगी। परिवार के लोगों की हर छोटी-मोटी जरूरतें पूरी करने में आपको आनंद आएगा। अचानक ही किसी ...

और पढ़ें