पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Premdevi Was Hospitalized For 9 Days, Now Healthy; Said To Be Positive, Be Positive, Do Not Let Negative Thoughts Dominate

67 वर्षीय बुजुर्ग ने 9 दिन में कोरोना को हराया:रोज दवा के साथ योग किया और सुने भजन; कई बार तबियत खराब हुई, लेकिन निगेटिव विचारों को नहीं होने दिया हावी

अजमेर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
घर लौटी प्रेमदेवी। - Dainik Bhaskar
घर लौटी प्रेमदेवी।

कोरोना हो या कोई भी बीमारी व्यक्ति को हौंसला रखना जरूरी है। जिससे वो हर परिस्थिति का डटकर मुकाबला कर सके। यह कहना है कि कोरोना पॉजिटिव होने के बाद अब स्वस्थ हुई 67 वर्षीय प्रेमदेवी का। उन्होंने कहा कि कोरोना पॉजिटिव होने पर भी खुद पर कभी निगेटिव विचारों को हावी नहीं होने दे। इसके कारण ही आसानी से कोरोना जंग जीती जा सकती है।

जोसंगज निवासी प्रेमदेवी ने बताया कि 18 अप्रैल को सांस की तकलीफ होने लगी तो ऑक्सीजन लेवल जांचा। ऑक्सीजन लेवल 90 से भी कम पाया तो तीनों बेटे नरेश, मोहन व करण रेलवे हॉस्पिटल लेकर गए। वहां 19 अप्रैल से करीब नौ दिन तक उपचार चला। कई बार स्थिति चिंताजनक भी रही, लेकिन इस दौरान डॉक्टर्स की ओर से बताई गई दवा समय पर ली। बाद में राहत मिली और छुट्टी दे दी गई। अब वह स्वस्थ है।

ऐसे कोरोना को हराया
प्रेमदेवी ने बताया कि रेलवे अस्पताल में भर्ती रहने के दौरान उन्होंने नियमित रूप से योग किया। भगवान के भजन सुने। जिसे निगेटिव बातें मन से दूर रहीं। साथ में अस्पताल में चल रही दवा भी समय पर ली। धीरे-धीरे रिकवर होनें लगी। आखिर ठीक होकर अपने घर लौटी।

प्रेमदेवी का कहना है कि कोरोना पाजीटिव होने के बावजूद निगेटिव विचारों को मन में नहीं लाई। मैंने न केवल हिम्मत रखी बल्कि परिवार के अन्य जनों को चिंता मुक्त रहने व भगवान पर भरोसा रखने की बात कही। कोरोना से डरे नहीं, बल्कि डटकर मुकाबला करें और उसे हराएं। समय पर दवा लें और मुंह पर मास्क लगाएं। सरकार की ओर से जारी गाइड लाइन का पालन करें। अनावश्यक रूप से घर से बाहर नहीं निकलें। तबीयत खराब हो तो डॉक्टर की सलाह लें।

खबरें और भी हैं...