पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

ब्रह्मा मंदिर:पुजारी परिवार की ओर से प्रबंध समिति, प्रशासन के खिलाफ काेर्ट में दावा पेश

अजमेर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पुजारी परिवार ने बेदखली रोकने और चढ़ावे में से आधा हिस्सा देने की उठाई मांग
  • बोले : पिछले कुछ समय से चढ़ावे में से कुछ नहीं मिल रहा, सुनवाई में देरी हुई तो भूखे मरने की नौबत आ जाएगी क्योंकि अब प्रशासन दे रहा है बेदखल करने की धमकी

विश्व विख्यात पुष्कर के ब्रह्मा मंदिर के पुजारी परिवार ने मंदिर से बेदखली रोकने और चढ़ावे में हिस्सा देने के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाया है। वयोवृद्ध पुजारी मुरलीधर वशिष्ठ सहित परिवार के अन्य सदस्याें ने कलेक्टर की अध्यक्षता वाली मंदिर की प्रबंध समिति और उपखंड अधिकारी के अलावा अन्य के खिलाफ जिला न्यायालय में दावा पेश किया है। प्रकरण में 16 अक्टूबर को सुनवाई होगी।

पुजारी परिवार का कहना है कि वंश परंपरा के अनुरूप महादेव वशिष्ठ के पूर्वजों के समय से वादीगण ब्रह्मा मंदिर में पूजा पाठ व अन्य धार्मिक कार्य कर रहे हैं। मंदिर में पूजा पाठ से मिलने वाली दान दक्षिणा से ही पुजारी परिवार का भरण पोषण होता है। मंदिर परिसर में स्थित दो कमरों का उपयोग पुजारी परिवार करता आ रहा है। इसमें से एक कमरे में मूर्ति मंदिर के पोशाक, शृंगार आदि का सामान रखा जाता है वहीं दूसरा कमरा पुजारी परिवार के वस्त्र बदलने और पूजा की पारी का इंतजार करने के लिए उठने-बैठने के काम आता है।

मंदिर का एक ट्रस्ट बनाकर 1992 में देवस्थान विभाग में रजिस्टर्ड करवाया गया था उसके बाद राज्य सरकार ने अपरिहार्य कारणों से इस ट्रस्ट से सभी प्रकार के नियंत्रण अपने हाथ में ले लिए और प्रबंध समिति का गठन कर दिया गया जिसके अध्यक्ष कलेक्टर हैं। प्रबंध समिति बन जाने के बाद से मंदिर में आने वाली सभी तरह भेंट व दान आदि राशि समिति ही प्राप्त कर रही है।

पुजारी परिवार को कुछ भी नहीं दिया जा रहा है उलटे अब मंदिर से बेदखल कर अन्य पुजारी नियुक्त करने का प्रयास कर रहे हैं। 30 अगस्त को वादीगण ने प्रबंध समिति से कहा कि मंदिर मे आने वाले चढ़ावे व राशि में से 50 प्रतिशत उन्हें दी जाए जिसे समिति ने सिरे से नकार दिया।

यही नहीं पुजारी परिवार को हैरान परेशान करने के लिए एक नोटिस थमा कर मंदिर से बेदखल करने की धमकी दी जा रही है। वादीगण ने अदालत से गुहार लगाई है कि विपक्षीगण को पाबंद किया जाए कि उन्हें मंदिर से बेदखल नहीं करें और चढ़ावे में प्राप्त होने वाली राशि व सामग्री का 50 प्रतिशत हिस्सा पुजारी परिवार को दिया जाए। अदालत ने प्रकरण में विपक्षीगण को नोटिस जारी कर दिए हैं। विपक्षीगण को 16 अक्टूबर को उपस्थित होकर जवाब पेश करने के आदेश दिए गए हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें