पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना संक्रमित:रेमडेसिविर की कमी बरकरार, डिमांड के अनुरूप 10 फीसदी भी नहीं हो रही सप्लाई

अजमेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रेमडेसिविर - Dainik Bhaskar
रेमडेसिविर

कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए पूरे देश में डॉक्टर रेमडेसिविर इंजेक्शन लिख रहे हैं। निजी अस्पतालों में भी डिमांड लगातार बढ़ रही है। अजमेर में जितनी डिमांड आ रही है, उसकी दस प्रतिशत भी पूरी करने में दिक्कत हो रही है। जिनको दवा मिल रही है वे अपने आपको भाग्यशाली समझ रहे हैं हालांकि विशेषज्ञ यह बता चुके हैं कि रेमडेसिविर कोई जीवन रक्षक दवा नहीं है।

डॉक्टरों का कहना है कि डेक्सामेथासोन भी एक कारगर और बेहतर दवा है। दोनों फेफड़ों में निमोनिया और गंभीर कोविड होने पर डेक्सामेथासोन भी दे सकते हैं। रेमडेसिविर इंजेक्शन का कोरोना के गंभीर मरीजों के इलाज में कोई फायदा नहीं होता है। इसके बावजूद रेमडेसिविर की कमी बनी हुई है। इसका नतीजा यह हुआ है कि अब वास्तव में जिस मरीज को यह दवा काम अा सकती है, उसे समय पर नहीं मिल रही है और इसके चलते संक्रमण को रोकने में दिक्कत आ रही है।

6 मई को यह थी डिमांड और सप्लाई की स्थिति

अस्पताल डिमांड आपूर्ति

  • मित्तल अस्पताल 287 11
  • आरएस अस्पताल 09 02
  • सेंट फ्रां. अस्पताल 80 10
  • क्षेत्रपाल अस्पताल 82 10
  • आनंद अस्प. ब्यावर 119 04
  • जय क्लिनिक ब्यावर 84 02
  • रेलवे अस्तपाल 30 05
  • कुल 691 44
खबरें और भी हैं...