पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मौत से संघर्ष:कोरोना से जंग जीतने के लिए करा रहे हैं अनुष्ठान

अजमेर2 महीने पहलेलेखक: भीकम शर्मा
  • कॉपी लिंक
संक्रमितों के स्वास्थ्य लाभ के लिए अनुष्ठान करते पंड़ित। - Dainik Bhaskar
संक्रमितों के स्वास्थ्य लाभ के लिए अनुष्ठान करते पंड़ित।
  • संक्रमितों के परिवार करा रहे हैं महामृत्यंुजय जाप, बगलामुखी अाैर दुर्गासप्तशती का पाठ

काेराेनाकाल में फैलते संक्रमण और बढ़ रही माैताें से लाेगाें में दहशत है। कोई घरों में आइसोलेट है तो कोई अस्पतालों में जिंदगी और मौत से संघर्ष कर रहे है। नए मरीजों को हॉस्पिटलों में जगह तक नहीं मिल रही है। कोरोना किसी बेटे के सिर से पिता का साया छीन रहा है तो किसी के घर के चिराग बुझ रहे है। मंदिर भी बंद हैं।

ऐसे हालात में महामारी से निजात के लिए धार्मिक अनुष्ठान भी किए जा रहे हैं। पंडिताें की सलाह पर कोई माता-पिता अपने संक्रमित बेटे-बेटी की जान बचाने के लिए बगलामुखी व दुर्गासप्तशती का पाठ करा रहा है तो कोई बेटा वेंटिलेटर पर जिंदगी की आखिरी सांसें गिन रहे अपने माता-पिता के लिए महामृत्यंजय महामंत्र का जाप, हवन, पूजन करा रहा है। पुष्कर में कई पंड़ित अपने पीड़ित यजमानों के लिए अनुष्ठान कर रहे हैं। कई पंड़ित वर्चुअल (अनुष्ठान) भी कर रहे हैं। कहीं 11 पंड़ित अनुष्ठान कर रहे हैं तो कहीं 7 अथवा 5 पंड़ित अपने वेद मंत्रों का जाप करते हुए हवन वेदी में आहुतियां दे रहे हैं।

अनुष्ठान कराने वाले पुरोहितों की बढ़ी डिमांड
कोरोना महामारी के चलते जहां लोगों मेंं धार्मिक अनुष्ठान का ट्रेंड बढ़ रहा है। वहीं पंडितों की भी डिमांड बढ़ गई है। अधिकतर पंड़ित अनुष्ठानों में व्यस्त है तथा एडवांस बुकिंग चल रही है। पीड़िताें को अनुष्ठान के लिए विद्वान पंडितों का इंतजार करना पड़ रहा है।
केस-1 पुष्कर निवासी गणपत ने अपने गुजरात के नवासर शहर में रहने वाले रिश्तेदार निर्मल वर्मा के लिए पुष्कर में अनुष्ठान कराया। अनुष्ठान के बाद संक्रमित रिश्तेदार का ऑक्सीजन लेवल 75 से बढ़ कर 95 हो गया तथा डॉक्टर ने उन्हें हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कर दिया। अब वे स्वस्थ हैं।

केस-2 पंड़ित कमल नयन दाधीच ने बताया कि बीते एक माह से अनुष्ठान जारी हैं। कुछ दिनों पूर्व दिल्ली के यजमान के लिए उन्होंने ऑनलाइन अनुष्ठान किया। तबीयत में सुधार हाेने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल गई। इससे पहले ब्रह्मघाट पर महामारी की शांति के लिए सुदर्शन महायज्ञ किया। उन्हाेंने कहा कि कोई भी अनुष्ठान सच्ची श्रद्धा से किया जाना चाहिए। धार्मिक अनुष्ठान अथवा वेद मंत्रों के जाप से आपदा में संबल मिलता है। मैंने कोरोना काल में कई संक्रमितों के लिए अनुष्ठान किए हैं तथा वर्तमान में अनुष्ठान चल रहा है।

केस-3 कोरोना संक्रमित हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एवं उनकी धर्मपत्नी सुनीता गहलोत के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए पुष्कर में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं व माली समाज के लोगों ने गत दिनों पं. कैलाश नाथ दाधीच के आचार्यत्व में महामृत्यंजय हवन यज्ञ किया।

खबरें और भी हैं...