पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कायड़ में निर्माण:नए मेडिकल काॅलेज की 22.48 हैक्टेयर जमीन साैंपी, सीएम जल्द करेंगे शिलान्यास

अजमेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • हाइवे के दोनों ओर बनेंगे मेडिकल कॉलेज के दोनाें भवन

कायड़ में बनने वाले नए मेडिकल कॉलेज के लिए आवंटित जमीन का कब्जा जेएलएन मेडिकल काॅलेज प्रशासन ने ले लिया है। एडीए आयुक्त अक्षय गोदारा के निर्देशानुसार तहसीलदार जगदीश सैन और जेएलएन मेडिकल के कार्यवाहक प्राचार्य डाॅ. शशि कुल भास्कर ने शुक्रवार काे मौका मुआयना किया।

गुरुवार काे कब्जा संबंधी दस्तावेज तैयार कर लिए गए थे। अब जेएलएन मेडिकल काॅलेज के पक्ष में लीज डीज निष्पादित हाेगी। मुख्यमंत्री अशाेक गहलोत जल्द ही नए मेडिकल काॅलेज का शिलान्यास कर सकते हैं। नया मेडिकल काॅलेज कायड़ में बनाया जा रहा है उसके लिए आवंटित जमीन के बीच से नेशनल हाइवे 89 गुजर रहा है। एेसे में अब नए मेडिकल काॅलेज के भवन सड़क के दाेनाें ओर बनेंगे।

अब लीज डीड हाेगी, जेएलएन मेडिकल प्रशासन ने लिया कब्जा

फैक्ट फाइल

  • जमीन का आवंटन कायड़ के खसरा नंबर खसरा नंबर 3876 4004 और 4005 जिसका क्षेत्रफल 22.48 हैक्टेयर है।
  • इस प्रोजेक्ट के लिए प्रशासनिक अनुमति चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा 17 जुलाई 2019 काे जारी की जा चुकी है।
  • भूमि पर मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के मानक अनुसार मेडिकल काॅलेज का निर्माण किया जाएगा। जिस पर करीब 300 कराेड़ रुपए खर्च हाेने का अनुमान है।

इनका कहना है
मेडिकल काॅलेज प्रशासन काे आवंटित की गई जमीन का कब्जा साैंप दिया है।
-किशाेर कुमार, सचिव, एडीए
माैके पर पत्थरगढ़ी करवाकर सीमांकन करेंगे, शुक्रवार काे माैका निरीक्षण किया गया था।
-डाॅ शशि कुल भास्कर, कार्य. प्राचार्य, जेएलएन मेडिकल काॅलेज

नए मेडिकल काॅलेज में यह होगा निर्माण

एडमिनिस्ट्रेटिव ब्लॉक, कॉलेज बिल्डिंग, कॉलेज काउंसिल हॉल, 4 लेक्चर थिएटर, सेंट्रल लाइब्रेरी, 2 एक्जामिनेशन हॉल, ऑडिटोरियम, यूजी बॉय व गर्ल्स के लिए हॉस्टल, इन्टर्न बॉय व गर्ल्स हॉस्टल, प्रिंसिपल के लिए बंगला, गेस्ट हाउस, बैंक, टेक्नीकल व नॉन टेक्नीकल स्टाफ के लिए क्वार्टर्स, सेंट्रल लैब, सेंट्रल फोटोग्राफिक सेक्शन, सेंट्रल वर्कशाप, सेंट्रल इंसीनरेटर प्लांट, मेडिकल एजुकेशन यूनिट / ट्रेनिंग सेंटर, सेंट्रल रिसर्च लैब, आईटी सेल प्ले ग्राउंड, स्वीमिंग पूल, जिम, वर्कशाप व इलेक्ट्रिक रूम, एसटीपी/ ईटीपी, पम्प रूम, एनिमल हाउस, डिपार्टमेंट ऑफ ऑडियो विडियो एआईडी, एनाटोमी, फिजियोलॉजी, बॉयो केमेस्ट्री, पैथोलॉजी, माइक्रो बायोलॉजी, फार्मोकॉलोजी, फॉरेंसिक मेडिसिन एंड टॉक्सीकॉलोजी आदि का निर्माण होगा।

खबरें और भी हैं...