पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Science Will Be Understood From The Model In The Park, Science Park Will Be Built At A Cost Of Rs 15 Crore; Construction Will Be Done On 20341 Square Meter Land, Leveling Will Start

पार्क में मॉडल से समझेंगे विज्ञान:15 करोड़ रुपए की लागत से बनेगा साइंस पार्क; 20341 वर्ग मीटर जमीन पर होगा निर्माण, समतलीकरण शुरू

अजमेर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
इस जमीन पर बनेगा। - Dainik Bhaskar
इस जमीन पर बनेगा।

मॉडल के जरिए विज्ञान को समझाया जाएगा। इसके लिए अजमेर में 15.20 करोड़ रुपए की लागत से साइंस पार्क बनेगा। अजमेर विकास प्राधिकरण द्वारा 20,341 वर्ग मीटर भूमि झलकारी बाई स्मारक के सामने साइंस सेंटर ( विज्ञान केंद्र ) के लिए निशुल्क उपलब्ध करवाई गई है। डिपार्टमेंट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी ( DST) इसका रखरखाव व देखभाल करेगा।

साइंस सेंटर के लिए केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा 50-50 प्रतिशत का अंशदान व्यय किया जाना है। साइंस पार्क में मुख्य रूप से स्थाई गैलरी जैसे-थीम बेस पार्क, फन साइंस पार्क, आउट डोर साइंस पार्क, तारा मंडल ( प्लेनेटोरियम ), विकसित अनुसंधान केंद्र प्रदर्शनी ( एग्जिहिबिट डवलपमेंट लेबोरेटरी ), साइंस लाइब्रेरी, कॉन्फ्रेंस रूम व कार्यालय स्टोर इत्यादि विकसित किए जाएंगे।

साइंस मॉडल प्रदर्शित होंगे

सेंटर में भौतिकी ( फिजिक्स ) एवं गणित से जुड़े विभिन्न साइंस मॉडल प्रदर्शित किए जाएंगे। साथ ही मनुष्य के विकास की कहानी से लेकर तारामंडल तक के विभिन्न वैज्ञानिक पहलुओं को सरल तरीके से समझाने के लिए मॉडल और पार्क विकसित किए जाएंगे। यहां पर एक बड़ी लाइब्रेरी भी होगी, जिसमें विज्ञान से जुड़ी पुस्तकें व विभिन्न पाठ्य सामग्री उपलब्ध होगी। वनस्पतियों व पेड़-पौधों के उपयोग की जानकारी भी दी जाएगी।

भूमि का समतलीकरण शुरू
भूमि का समतलीकरण शुरू

राज्य सरकार ने दी थी राशि

राज्य सरकार की ओर से अजमेर स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा साइंस सेंटर बनाने के लिए 8.65 करोड़ रुपए डिपार्टमेंट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी ( DST ) राजस्थान को सितंबर 2019 में स्थानांतरित किए। केंद्र सरकार द्वारा नेशनल काउंसिल ऑफ साइंस म्यूजियम (NCSM) कोलकाता को कार्य आवंटित किया गया है।

DST विभाग करेगा रखरखाव

सांइस म्यूजिम का रख रखाव का कार्य DST विभाग द्वारा किया जाएगा। प्रस्तावित भूमि NCSM एवं DST विभाग द्वारा भूमि का फिल्ड विजिट करके समतलीकरण के लिए अजमेर स्मार्ट सिटी को निर्देशित किया गया है। अजमेर स्मार्ट सिटी द्वारा उक्त भूमि के समतलीकरण का कार्य नगर निगम के माध्यम से करवाया जा रहा है। साथ ही भूमि का मृदा परीक्षण भी करवाया जा रहा है। निर्माण कार्य शीघ्र शुरू होगा।

ये है साइंस सेंटर का उद्देश्य

  • छात्रों व दर्शकों में वैज्ञानिक दृष्टिकोण और सोच जगाना।
  • जिज्ञासाओं का समाधान कर रोचक जानकारी देना।
  • अभिनव व प्रायोगिक गतिविधियों को बढ़ावा देना।
  • विज्ञान को लोकप्रिय बनाने और संचार के माध्यम से विकसित करना।
  • प्रौद्योगिकी और उपकरणों के विकास की प्रक्रिया को लोगों तक पहुंचाना।
खबरें और भी हैं...