• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Short Cut Became The Reason For The Accident On The Highway; Empty Trailer Collided With Cement filled Trailer Coming From The Wrong Side, Fire Broke Out, Both Not Identified

दो ट्रेलर भिड़े, जिंदा जल गए ड्राइवर-क्लीनर:जयपुर-अजमेर पर टक्कर के बाद लगी आग, रॉन्ग साइड आ रहा था एक ट्रेलर

अजमेर3 महीने पहले

किशनगढ़ के जयपुर-अजमेर हाईवे पर दो ट्रेलर की जोरदार भिड़ंत हो गई। शुक्रवार रात 12 बजे हुए इस हादसे में एक ट्रेलर के ड्राइवर और क्लीनर जिंदा जल गए। वहीं दूसरे ट्रेलर के घायल चालक को यज्ञनारायण अस्पताल में भर्ती कराया है। आग लगने से हाईवे पर यातायात ठप हो गया। दमकल मौके पर पहुंची और आग पर काबू पाया। पुलिस ने मौके से दोनों वाहनों को हटाकर यातायात सुचारु कराया।

किशनगढ़ के जयपुर-अजमेर हाईवे पर फायर स्टेशन के सामने हुए इस हादसे के पीछे एक बार फिर लापरवाही नजर आई। शॉर्ट कट के कारण जयपुर से अजमेर की तरफ रॉन्ग साइड में ड्राइव कर एक खाली ट्रेलर हाईवे पर आया। खाली ट्रेलर की भिड़ंत अजमेर से जयपुर की ओर जा रहे दूसरे सीमेंट से भरे ट्रेलर से हो गई। इसमें खाली ट्रेलर के चालक और क्लीनर जिंदा जल गए। भिड़ंत के बाद ट्रेलर ने आग पकड़ ली। मौके पर लोगों की भीड़ लग गई और दोनों तरफ का यातायात जाम हो गया।

पुलिस ने मौके से दोनों वाहनों को हटाकर यातायात सुचारु कराया। घायल चालक को यज्ञनारायण अस्पताल में भर्ती कराया है।
पुलिस ने मौके से दोनों वाहनों को हटाकर यातायात सुचारु कराया। घायल चालक को यज्ञनारायण अस्पताल में भर्ती कराया है।

गांधीनगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और दमकल को बुलाया गया। कड़ी मशक्कत के बाद आग को बुझाया गया। बाद में ट्रेलर चालक और खलासी के जले हुए क्षत-विक्षत शवों को पुलिस ने मॉर्च्युरी में रखवाया। सीओ सिटी भूपेंद्र शर्मा भी मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली। क्रेन की मदद से दुर्घटनाग्रस्त वाहनों को हटवा कर यातायात को सुचारु करवाया गया।

ट्रेलर चालक और खलासी के जले हुए क्षत-विक्षत शवों को पुलिस ने मॉर्च्युरी में रखवाया।
ट्रेलर चालक और खलासी के जले हुए क्षत-विक्षत शवों को पुलिस ने मॉर्च्युरी में रखवाया।

जयपुर निवासी है दोनों मृतक

गांधी नगर SHO शम्भूसिंह ने बताया कि मृतक महेशवास, जोबनेर जयपुर निवासी शंकर लाल जाट (23) एवं अखिराम गुर्जर (25) है। दोनों पड़ोसी है और यज्ञनारायण अस्पताल में पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन के सुपुर्द कर दिए गए है। दोनों की पहचान गाड़ी नम्बरों के आधार पर है। पुलिस ने गाड़ी मालिक को बुलाया और उससे बात करने पर दोनों के नाम पता चले। इस पर परिजन को सूचना की।

शवों को निकालकर मॉर्च्युरी लेकर जाती पुलिस।
शवों को निकालकर मॉर्च्युरी लेकर जाती पुलिस।

पहले भी हो चुके हादसे
मार्बल मंडी से गुजर रहे अजमेर जयपुर हाईवे पर पहले भी कई हादसे हो चुके हैं, जिसके बाद प्रशासन ने डिवाइडर के कट को बन्द करवा दिया था, लेकिन इसे दोबारा खोल दिया गया। वाहन चालक यातायात नियमों का पालन करने की बजाय शॉर्ट कट का इस्तेमाल कर ऐसे हादसों को न्योता दे रहे हैं। बहरहाल गांधीनगर थाना पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

हादसे की जानकारी लेती पुलिस।
हादसे की जानकारी लेती पुलिस।