चांदी के कड़े चुराने का आरोपी गिरफ्तार:चोरी का माल भी बरामद, प्राइवेट इलाज कराने के लिए की थी चोरी

अजमेर6 महीने पहले
गिरफ्तार आरोपी
  • अदालत ने भेजा जेल

अजमेर की सिविल लाइन थाना पुलिस ने बुजुर्ग को झांसा देकर आधा किलोग्राम चांदी के कड़े चुराकर ले जाने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उसके कब्जे से चोरी का माल भी बरामद कर लिया है।

सिविल लाइंस थाना पुलिस के अनुसार गिरफ्तार आरोपी रहमत की दुकान के पास भांबी मोहल्ला सोमलपुर अजमेर निवासी मोहनलाल ( 55 ) पुत्र विजयलाल मेघवाल है। जिसके खिलाफ पुलिस ने चोरी का मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस ने मामले में पूछताछ के बाद आरोपी को शुक्रवार को अदालत के समक्ष पेश कर दिया। जिसे अदालत ने जेल भेज दिया।

थाने पर शिकायत करने वाला पीड़ित बुजुर्ग
थाने पर शिकायत करने वाला पीड़ित बुजुर्ग

बुजुर्ग ने दी थी शिकायत

एसपी विकास शर्मा ने बताया कि 19 मई को सिविल लाइन थाने पर पीड़ित जिला टोंक निवासी रामपाल ने शिकायत देकर बताया था कि वह परिवार सहित पिछले 15 दिन से मजदूरी की तलाश में अजमेर आया है। दिन में मजदूरी करने के बाद रात्रि को परिवार अजमेर क्लब के पास बने हुए फुटपाथ पर ही सो जाता था। इस दौरान दिन में स्वयं का नाम मोहन बताने वाला व्यक्ति उसे अजमेर क्लब के पास मिला। वह 18 मई को दोपहर 2 बजे पास में सो रहा था। जब वह पानी के लिए गया तो पीछे से वह उसके बैग में रखें पत्नी के चांदी के हाथ के दो कड़े चोरी कर ले गया। जिसका वजन करीब 500 ग्राम था।

यू आरोपी को किया गिरफ्तार

एसपी शर्मा ने बताया कि घटना की जानकारी मिलते ही टीम का गठन कर आरोपी को तलाशने के निर्देश दिए थे। टीम ने रोडवेज बस स्टैंड व आसपास के क्षेत्र में संदिग्धों की तलाश शुरू की। दूसरी टीम ने घटनास्थल व आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को चेक किया। अभय कमांड सेंटर से आरोपी की फुटेज प्राप्त हो गए। उसके आधार पर आरोपी को दबोच लिया।

खुदका इलाज करवाने के लिए की चोरी

पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसकी पत्नी उससे नाराज होकर बच्चों के साथ अपने पीहर नारेली चली गई। इसलिए वह अकेला होने के कारण कुछ दिन से कभी घर पर तो कभी अजमेर क्लब के पास बने रैन बसेरा में ही सो जाता है। उसने बताया कि उसका स्वास्थ्य खराब होने के कारण जेएलएन अस्पताल में उपचार चल रहा था। 10 मई को जेएलएन अस्पताल से उसे छुट्टी मिली थी। उसके बाद अजमेर क्लब के पास बने रेन बसेरा में रात गुजारने लगा। ऐसे में रामपाल बागरिया से संपर्क हो गया। उसका परिवार दिन में मजदूरी के लिए शहर में चला जाता था। इसलिए वह उसके साथ दिन में अजमेर क्लब के पास फुटपाथ पर सो जाता था। 18 मई को बैग में रखे चांदी के दो कड़े उसे मिल गए। जिन्हें उसने चोरी कर लिया और अपने गांव चला गया। उसने बताया कि उसने उन गहनों को बेचकर खुद का इलाज प्राइवेट डॉक्टर से कराने की योजना बनाई थी, लेकिन वह गहनों को बेचता उसे पहले ही पुलिस ने उसे दबोच लिया।

अजमेर में बुजुर्ग के साथ दिनदहाड़े चोरी:* बहला-फुसलाकर पीड़ित को पानी लेने के लिए भेजा, चोर थैले से ले गया चांदी के कड़े