• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Strong Reaction On Social Sites Regarding RPSC Bribery Scandal; RLP Supremo Said – Who Is The Role Of Whom, Investigation Should Be Done To The Bottom Of It, Many Demanded Investigation Of All The Recruitments

​​​​​​​RPSC घूस कांड को लेकर कड़ी प्रतिक्रिया:RLP सुप्रीम ने कहा-किस किस की है भूमिका, इसकी तह तक जाकर हो जांच, कई ने सभी भर्तियों की जांच की मांग की

अजमेर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

RPSC में घूस का खुलासा होने के बाद सोशल साइट पर लोगों की तीखी प्रतिक्रिया होने लगी है। RLP (राष्ट्रीय लोक तांत्रिक पार्टी) के सुप्रीम हनुमान बेनीवाल ने भी ने ट्वीट कर मामले में लिप्त लोगाें की भूमिका की तह तक जाकर जांच करने की मांग उठाई है,वहीं राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष उपेन यादव ने अन्य भर्तियों की भी जांच कराने की बात कही है। अन्य लोगाें ने भी इस मामले में खुलकर अपनी राय दी है और मामले की जांच निष्पक्ष कराने की बात कही है।

RLP सुप्रीम हनुमान बेनीवाल ने किया यह किए ट्वीट

  • राजस्थान लोक सेवा आयोग के पूर्व के 4-5 अध्यक्षों पर गम्भीर भ्र्ष्टाचार में लिप्त होने के प्रकरण सार्वजनिक हुए और RPSC की साख भी देश भर में खराब हुई। इसलिए ऐसे मामले में गंभीरता से जांच की जरूरत है ।
  • राजस्थान लोक सेवा आयोग में कार्यरत कनिष्ठ लेखाकार को RAS इन्टरव्यू में सलेक्शन करवाने के नाम पर 23 लाख की रिश्वत लेते हुए पकड़े जाने के प्रकरण में ACB को मामले में तह तक जाकर इस बात की जांच करने की जरूरत है कि आखिर इस मामले में और किस -किस की भूमिका शामिल है।

राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष उपेन यादव ने ये किया ट्वीट
RAS भर्ती 2018 के साक्षात्कार के संबंध में जो भ्रष्टाचार सामने आया है, उसकी उसके उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए, जो सदस्य इसमें लिप्त है उन का भंडाफोड़ होना चाहिए और उनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए l सभी भर्तियों की जांच होनी चाहिए जिसमें यह लिप्त हैं।

परविन्दर कौर नाम के यूजर ने यह किया ट्वीट
अधिकारी रिश्वत क्याें लेते हैं,क्याेंकि उन्हाेंने भी ऐसे ही रिश्वत दी हाेती है..'राेपे बिरवा आक का ताे आम कहाँ से हाेए' इस पद्धति से चयनित अभ्यर्थियाें से उनके सेवाकाल के दाैरान क्या ईमानदारी की उम्मीद की जा सकती है?

राजेन्द्र चौधरी नाम के यूजर ने यह किया ट्वीट
राजस्थान पुलिस के मुखिया रह चुके आरपीएससी चेयरमैन कई एसीबी पर प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से दबाव तो नहीं बनाएंगे। एसीबी के डीजी और एडीजी को फ्री हैंड यह प्रकरण जांच के लिए मिले तो सबसे अच्छा रहेगा।आरपीएससी के कई सदस्य इस मामले में शामिल है।

यह है मामला

ACB की जयपुर तृतीय इकाई को परिवादी द्वारा शिकायत दी गई कि RAS प्रतियोगी परीक्षा 2018 के इंटरव्यू में अच्छे अंक दिलवाने एवं सिलेक्शन कराने के एवज में सज्जन सिंह गुर्जर ने 25 लाख रुपए की रिश्वत मांगी है। ASP हिमांशु कुलदीप के नेतृत्व में शिकायत का सत्यापन किया गया। इसके बाद अजमेर के काकरिया में किराए के मकान में रह रहे सुनगाड़ी, बांदीकुई, दौसा निवासी सज्जन सिंह गुर्जर को अजमेर में परिवादी ने 23 लाख रुपए (1 लाख रुपए भारतीय मुद्रा एवं 22 लाख डमी मुद्रा) रिश्वत दी।

मौके पर सज्जन सिंह ने खुद काे घिरा पाकर रिश्वत में ली गई नाेटाें की गड्डियों काे पास के मकान की छत पर फेंकना शुरू कर दिया। बाद में ACB टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया और उसके कब्जे से नाेटाें की गड्डियां बरामद की। आरोपी ने दो लाख खुद के लिए और 23 लाख रुपए ऊपर के अधिकारियों को पहुंचाने के लिए मांगे थे। इसके बाद देर रात ACB टीम ने सिकंदरा टोल नाके पर काम करने वाले व RPSC मेंबर राजकुमारी गुर्जर के कथित पीए नरेन्द्र पोसवाल को भी ACB ने गिरफ्तार कर लिया था।

यह खबरें भी पढे़ं....

RPSC घूस की जांच में जुटी ACB:आयोग मेंबर राजकुमारी गुर्जर के नाम पर ली थी सज्जन सिंह ने 25 लाख रिश्वत; सहयोगी कथित PA भी गिरफ्तार, 5 दिन के रिमांड पर दोनों आरोपी

जयपुर ACB की अजमेर में बड़ी कार्रवाई:RAS इंटरव्यू में सलेक्शन के लिए RPSC के जूनियर अकाउंटेंट ने मांगी थी 25 लाख की रिश्वत, 23 लाख के साथ ट्रैप

खबरें और भी हैं...