दहेज के मामले से परेशान MA स्टूडेंट ने किया सुसाइड:डायरी में लिखा: सास-ससुर और साले से तंग आ गया हूं

अजमेर3 महीने पहले
परिजनों का आरोप है कि हितेश अपने ऊपर लगे दहेज के झूठे मामले से परेशान था। ससुराल वाले उसे फाेन पर धमकाते और गाली-गलौज भी करते थे।

अजमेर में एक युवक ने ससुराव वालों से परेशान होकर सुसाइड कर लिया। युवक की डायरी से एक सुसाइड नोट भी मिला है। इसमें ससुराल पक्ष के लोगों के नाम लिखे हैं।

मामला अजमेर के जवाजा थाने के नरबदखेड़ा गांव का है। मृतक हितशे कुमार(26) के भाई रमेश कुमार ने पुलिस को रिपोर्ट देकर बताया कि 21 जून की रात को वह परिवार व भाई हितेश कुमार के साथ खाना खाकर रात करीबन 9 बजे अलग अलग कमरे में सो गए। इसके बाद 22 जून की सुबह हितेश के कमरे का दरवाजा खटखटाते हुए बाहर आने की आवाज लगाई। हितेश बाहर नहीं आया तो दरवाजे पर लात मार कर खोला। भाई हितेश कुमार छत के पंखे के हुक से रस्सी बांध लटका हुआ मिला। इसके बाद पुलिस को सुचना दी। पुलिस ने शव को उतारा। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन के सुपुर्द कर दिया।

हितेश की अलमारी से सुसाइड नोट मिला। इसमें ससुराल पक्ष के लोगों के नाम लिखे थे।
हितेश की अलमारी से सुसाइड नोट मिला। इसमें ससुराल पक्ष के लोगों के नाम लिखे थे।

डायरी में मिला सुसाइड नोट
पुलिस ने जब कमरे की तलाशी ली तो हितेश की अलमारी से एक डायरी मिली। इस डायरी में सुसाइड नोट लिखा था। इसमें ससूर बालुराम, सास उमी देवी, साला गोविंद व हंसराज, चाचा ससुर प्रकाश, बड़ा ससुर का बेटा सीताराम पुत्र अर्जुनराम निवासी सारोठ, राजसमंद के नाम लिखे थे। इसमें लिखा था कि इन सभी से तंग आकर सुसाइड कर रहा हूं।

पत्नी छोड़ चली गई थी, दहेज का लगा था आरोप
मृतक के भाई ने बताया कि पांच साल पहले हितेश की शादी हुई थी। अभी साढ़े तीन साल की बेटी है। हितेश एमए पास था और कॉम्पिटिशन की तैयारी कर रहा था। इसके साथ ही कुछ समय पहले अहमदाबाद की एक कंपनी में ऑफिस बॉय का काम करता थाा। जनवरी 2022 में उसकी पत्नी छोड़ पीहर चली गई थी। इसके बाद ससुर बालुराम दहेज का सामान व स्त्रीधन पांच तोला सोना व दो किलो चांदी ले गए। इसके बाद से हितेश परेशान था। भाई ने आरोप लगाया कि हितेश के ससुराल वाले आए दिन मोबाइल पर धमकी देते और गाली-गलौज करते थे। इससे वह परेशान होने लगा और सुसाइड कर लिया।