पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • The Assailant Fell From The Bike While Running After Beating Bhagchand Chotia, Screaming And Then Sat On The Bike And Fled.

अपराध:भागचंद चोटिया को गाेली मारकर भागते समय बाइक से गिरे हमलावर, चिल्लाते हुए फिर बाइक पर बैठे और हाे गए फरार

मदनगंज-किशनगढ़5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कार में बैठते ही फायरिंग : गोली लगने के बाद मौके पर ही गिर पड़े भागचंद
  • शहर का सबसे व्यस्त क्षेत्र होने के बावजूद हमलावरों ने बेखौफ दिया वारदात को अंजाम, भरे बाजार में दिनदहाड़े हुई घटना से दहशत
  • पूर्व विधायक पुत्र भंवर सिनाेदिया हत्याकांड का मुख्य आराेपी बलभाराम जाट धाैलपुर जेल में है बंद, पुलिस काे अंदेशा जेल से चला रहा नेटवर्क

शहर में फायरिंग की घटनाएं पहले भी हाे चुकी हैं लेकिन सरेबाजार गाेलियां चलाकर भागते हमलावर खुद हड़बड़ाहट में गिरते-पड़ते भाग छूटे हाें ऐसा शहरवासियाें ने पहली बार देखा है। रविवार को बालाजी मंदिर के पास भागचंद चाेटिया पर फायरिंग के बाद हमलावरों ने मुर्दा गली वाला रास्ता चुना और सांवतसर होकर भागते समय तीनों बाइक से गिर पड़े। तीनों हमलावर चिल्लाते हुए फिर से बाइक पर बैठ गए और फरार हो गए।

क्षेत्रवासियों का कहना है कि तीनों हमलावराें की उम्र 20 से 25 साल के बीच है। इधर, शव को अस्पताल की मोर्चरी में रखवाने के बाद स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने अतिरिक्त जाप्ता बुलवा लिया। अस्पताल को छावनी बना दिया गया, ताकि किसी तरह का कोई विवाद ना हो।

मृतक भागचंद (फाइल फोटो)
मृतक भागचंद (फाइल फोटो)

पहले दूर से किया फायर, फिर नजदीक आकर मारा
सूत्रों का कहना है कि भागचंद चोटिया ने परिचित सत्यनारायण टिंकर से बात की और साथ में चाय की दुकान पर चाय पी। चाय पीकर चोटिया अपनी कार की तरफ बढ़ा और जैसे ही दरवाजा खोला ताे हमलावरों ने फायरिंग कर दी। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि दो जने बाइक के पास थे और एक बाइक पर बैठा था। एक ने पहले दूर से फायर किया और फिर तेजी से नजदीक से फायरिंग कर चोटिया की हत्या कर दी और फरार हो गए।

गोली से कार के शीशे में हुआ छेद

पुलिस को घटनास्थल पर कईं साक्ष्य मिले हैं। सूत्रों का कहना है कि एक के बाद एक फायरिंग के दौरान शूटर का निशाना इतना अचूक था कि उसने चोटिया के सिर पर गोली मारी। गोली का प्रहार इतना तेज था कि गोली चोटिया के सिर से आरपार होती हुई कार के शीशे में छेद करती हुई दीवार से टकरा गई। दीवार में छेद हो गया। पुलिस को मौके से गोलियों के खोल मिले है। एफएसएल की टीम ने जांच के लिए नमूने ले लिए।

सीसीटीवी कैमरे में कैद हुए हमलावर, जल्द हो सकती है पहचान

पुलिस ने वारदात स्थल के आसपास स्थित दुकानों पर लगे सीसीटीवी कैमरों की रिकॉर्डिंग जब्त की है। रिकॉर्डिंग खंगालने में जुटी है। रिकॉर्डिंग में हत्यारों का कोई सुराग मिलने की संभावना है। इधर वारदात स्थल पर मौजूद चश्मीदीदों से भी हमलावरों के बारे में जानकारी ली जा रही है। एफएसएल की टीम भी पड़ताल कर रही है।
वारदात के बाद चोटिया का शव 21 मिनट तक पड़ा रहा मौके पर

चोटिया को घटनास्थल से लाने के बाद अस्पताल के बाहर जुटी भीड़
चोटिया को घटनास्थल से लाने के बाद अस्पताल के बाहर जुटी भीड़

हमलावरों ने चोटिया को संभलने तक का माैका नहीं दिया। चोटिया बचने के लिए कार में घुसना चाह रहे थे लेकिन इससे पहले ही ताबड़ताेड़ फायर से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। वारदात के बाद 21 मिनट तक चोटिया का शव खून से लथपथ पड़ा रहा। मौके पर चोटिया के रिश्तेदार पहुंच गए लेकिन पुलिस नहीं पहुंची। परिजनों ने आरोप लगाया कि मुख्य बाजार में वारदात के 21 मिनट तक न तो पुलिस पहुंची और न एंबुलेंस।

बेनिवाल के ट्वीट से बढ़ी प्रशासन की चिंता

वारदात के बाद नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने घटना की निंदा करते हुए आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की। उन्होंने ट्वीट में सभी आरएलपी पदाधिकारियों व सदस्यों तथा पार्टी से जुड़े लोगों से किशनगढ़ पहुंचने का आह्वान किया।

पुलिस के हाथ लगे सुराग, संदिग्धों काे हिरासत में लेकर पूछताछ

सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस के हाथ हत्याराें के अहम सुराग लगे हैं। ग्रामीण परिवेश में वारदात काे अंजाम देने पहुंचे हत्याराें की पहचान हाे चुकी है, पुलिस टीमाें ने कई जगहाें पर दबिश देकर संदिग्धाें काे हिरासत में लिया है, जिनसे गहनता से पूछताछ की जा रही है। हत्या काे भंवर सिनाेदिया हत्याकांड के कुख्यात आराेपी बलभाराम से जाेड़कर देखा जा रहा है। बलभाराम जाट फिलहाल धाैलपुर जेल में बंद है, वर्ष 2019 में उसे अजमेर की हाईसिक्यूरिटी जेल से धाैलपुर जेल में शिफ्ट किया गया था।

पुलिस काे अंदेशा है कि जेल से ही चाेटिया की हत्या की साजिश रची गई और वारदात काे अंजाम देने के लिए भाड़े के शूटर्स काे किशनगढ़ बुलवाया गया। हालांकि, एसपी कुंवर राष्ट्रदीप ने बलभाराम कनेक्शन काे लेकर इतना ही कहा कि फिलहाल कुछ भी कहना जल्दबाजी हाेगा। पुलिस जल्द ही मामले का खुलासा करेगी।

एडीशनल एसपी ग्रामीण बाेले : माेटे ताैर पर बलभाराम कनेक्शन, लेकिन जांच के बाद हाेगी स्थिति स्पष्ट

इस मामले में एडिशनल एसपी (ग्रामीण) किशन सिंह ने कहना है कि - जल्द ही मामले का खुलासा हाेगा। प्रथम दृष्टया बलभाराम का नाम सामने आ रहा है। जांच की जा रही है, जांच के बाद ही स्पष्ट हाे सकेगा कि हत्या की वारदात में काैन-काैन शामिल है। और किसके इशारे पर वारदात काे अंजाम दिया गया।

कुख्यात अपराधी बलभाराम कनेक्शन पर बाेले एसपी कुंवर राष्ट्रदीप- फिलहाल कुछ कहना जल्दबाजी हाेगी
एसपी कुंवर राष्ट्रदीप ने कहा कि - सीसीटीवी फुटेज से पुलिस के हाथ महत्वपूर्ण सुराग लगे हैं। कई जगह दबिश देकर कुछ संदिग्धाें काे हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। वारदात में कुख्यात अपराधी बलभाराम का काेई कनेक्शन है या नहीं, यह कहना फिलहाल जल्दबाजी हाेगा। बलभाराम धाैलपुर जेल में बंद है।

वर्ष 2019 में हाईसिक्यूरिटी जेल से शिफ्ट किया गया था बलभाराम, धाैलपुर जेल में है बंद
भंवर सिनाेदिया हत्याकांड का मुख्य आराेपी बलभाराम धाैलपुर जेल में बंद है। जेल अधीक्षक प्रीति चाैधरी ने बताया कि वर्ष 2019 में ही बलभाराम काे हाईसिक्यूरिटी जेल से धाैलपुर जेल स्थानांतरित किया जा चुका है। सिनाेदिया हत्याकांड के अन्य आराेपी भी यहां से शिफ्ट किए जा चुके हैं।

सरपंच पुत्र होने से शोक में डूबा हरमाड़ा
सरपंचों के चुनाव में हरमाड़ा से भागचंद चोटिया की मां ऐजन देवी सरपंच बनी थी। सरपंच बनने के बाद हरमाड़ा पंचायत का सारा कामकाज खुद चोटिया ही देख रहा था। इन दिनों कोरोना महामारी के बीच लोगाें की कोविड जांच कराना, मास्क और सेनेटाइजेशन वितरण के कार्य में भी काफी सक्रिय भूमिका निभाई। समाज सेवा से जुड़े कार्य चोटिया कर रहा था।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सिनोदिया से बात की
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पूर्व विधायक नाथूराम सिनोदिया के मोबाइल पर कॉल कर उनसे घटना की जानकारी ली। गहलोत ने सिनोदिया से कहा कि आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। वे खुद पूरे मामले को देख रहे हैं।

वारदात के बाद मौके पर सांसद भागीरथ चौधरी, विधायक सुरेश टांक, भाजपा नेता विकास चौधरी, भूमि विकास बैंक चेयरमेन चेतन चौधरी, हमीदा बानो, शक्की मोहम्मद, तक्की मोहम्मद, मोहित खंडेलवाल, राकेश शर्मा आदि मौके पर पहुंच गए।

सभी ने घटना की निंदा करते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की। अजमेर डेयरी के अध्यक्ष रामचंद्र चौधरी ने हत्या की निंदा करते हुए मुख्यमंत्री से आराेपियों को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग की है। उन्होंने बताया कि इस वारदात से जाट समाज में गहरा रोष व्याप्त है।

भावुक हुए कांग्रेस के पूर्व विधायक नाथूराम सिनोदिया

चोटिया के शव को राजकीय यज्ञनारायण अस्पताल में लाने के बाद भीड़ जमा हो गई। इससे बार-बार माहौल गर्माता रहा। परिजन बार-बार बिलखते हुए घटना पर नाराजगी जता रहे थे। माैके पर पुलिस के आला अधिकारियों ने पहुंचकर स्थिति को संभाला। अस्पताल पहुंचे पूर्व विधायक नाथूराम सिनोदिया चाेटिया का शव देखते ही भावुक हो गए। उनकी आंखों से आंसू निकल आए। मालूम हो कि भंवर सिनोदिया हत्याकांड का एकमात्र मुख्य चश्मदीद गवाह भागचंद चोटिया ही था।

रंजिश की वजह भंवर सिनोदिया हत्याकांड या कुछ और!

भागचंद चोटिया की हत्या के बाद सभी की नजर 9 मार्च 2011 में हुए भंवर सिनोदिया हत्याकांड की ओर जा रही है। सिनोदिया हत्याकांड में अभियुक्ताें को न्यायालय से सजा मिल चुकी है। लेकिन अपराधियों से रंजिश लगातार बनी हुई थी। इसीलिए चोटिया को सरकार की तरफ से उसके खर्चे पर एक सुरक्षा गार्ड दे रखा था। लेकिन बीच में सुरक्षा गार्ड हटा दिया गया।

ऐसे में प्रथमदृष्टया वारदात की वजह से सिनोदिया हत्याकांड मानी जा रही है। लेकिन चोटिया जमीनी काराेबार से भी जुड़ा था। इसलिए वारदात की वजह कुछ और भी हो सकती है। हत्यारों के गिरफ्तारी के बाद ही वारदात खुल पाएगी। पुलिस जिलेभर में नाकाबंदी कर आरोपियों की सरगर्मी से तलाश में जुटी है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें