• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • The Deceased Did Not Go Home For 5 Years, Was In Touch On The Phone; Used To Roam In The Dargah Of Sufi Saints, Reached Ajmer By Traveling In AC Of Train From Clear Sharif's Dargah

अजमेर में जायरीन हत्या:5 साल से घर पर नहीं गया मृतक, फोन पर सम्पर्क में था; फकीरों की तरह रहता था, लेकिन AC ट्रेन से यात्रा कर अजमेर पहुंचा था

अजमेर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतक का आधार कार्ड। - Dainik Bhaskar
मृतक का आधार कार्ड।

अजमेर के होलीदड़ा क्षेत्र के गेस्ट हाउस में हुई हत्या के मामले में गुरुवार सुबह शव परिजन के सुपुर्द कर दिया है। परिजनों के अनुसार, मृतक युवक सूफी संतों की दरगाह में घूमता था। फकीरों की जिंदगी जिया करता था। पिछले पांच साल से वह घर नहीं गया, लेकिन फोन पर सम्पर्क में था। वहीं पुलिस जांच में यह भी पता चला कि रूड़की के क्लीयर शरीफ से ट्रेन के AC कंपार्टमेंट में यात्रा कर 28 को अजमेर पहुंचा था।

गेस्ट हाउस कमरे में जांच करती पुलिस
गेस्ट हाउस कमरे में जांच करती पुलिस

यह था मामला

बुधवार सुबह जैद गेस्ट हाउस के कमरे से दुर्गंध आने की सूचना दरगाह थाना पुलिस को मिली। वहां जाने पर पता चला कि बाहर से ताला लगाया हुआ है। इस पर हालात संदिग्ध मानते हुए एफएसएल और एमओबी की टीम को बुलाया। ताला खोलकर साक्ष्य जुटाए। शव से बदबू आ रही थी। बाद में एफएसएल और एमओबी टीम ने साक्ष्य जुटाए। मृतक का शव जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय पहुंचाया और परिजन को सूचना की। मृतक की पहचान मुरादाबाद UP निवासी मोहम्मद माजिद साबरी (33) के रूप में हुई।

परिजन को सौंपा शव

गुरुवार सुबह परिजन के पहुंचने पर जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय के चीरघर में मृतक के शव का पोस्टमार्टम कराया गया और शव परिजन के सुपुर्द कर दिया। दरगाह थाना प्रभारी दलवीरसिंह ने बताया कि मृतक के भाई मोहम्मद साजिद की रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर लिया है। साजिद ने ही पुलिस को बताया कि मृतक फकीरी जिन्दगी जिया करता था और पांच साल से वह घर नहीं आया। केवल फोन पर ही बाते करता था। मृतक के पत्नी और 8 व 6 साल के दो पुत्र है।

2 अगस्त को मिलने आए युवक, पुलिस मान रही संदिग्ध

प्रारंभिक पड़ताल में पता चला कि युवक 28 जुलाई से यहां रूका हुआ था और जो यहां पहली बार रूका, लेकिन दरगाह जियारत के लिए आता जाता रहता था। गले में दुपट्टा मिलने से माना जा रहा है कि उसका गला घोंट कर मारा गया। उसके पास मिले मोबाइल आदि के बारे में पुलिस पता कर रही है। दरगाह CI दलबीर सिंह ने बताया कि दो अगस्त को अंतिम बाद इससे दो युवक मिलने आए थे और करीब दो घंटे तक रूके। इनको संदिग्ध मानकर आस पास के क्षेत्र के सीसीटीवी देखे जा रहे हैं। पुलिस का मानना है कि इन दोनों ने ही इसकी हत्या की।

AC के टिकट पर किया था सफर

पुलिस की पड़ताल में पता चला है कि मृतक फकीरी जिन्दगी जिया करता था लेकिन वह रूड़की के क्लीयर शरीफ से अजमेर आने के लिए रेल के AC से सफर किया। इसके पास 2200 रुपए का एक टिकट भी मिला है। साथ ही फकीरी जिदंगी जीने के बावजूद वह यहां इधर उधर रूकने के बजाय गेस्ट हाउस में रूका। मृतक ने जादू टोने को अपना आय का जरिया बना बना रखा था।

मौके से साक्ष्य जुटाती एफएसएल व एमओबी टीम
मौके से साक्ष्य जुटाती एफएसएल व एमओबी टीम

यह खबर भी पढें...

गेस्ट हाउस में जायरीन की हत्या:गला घोंट कर मारा, कमरा बंद कर लगाया ताला; बदबू आने पर पर पहुंची पुलिस तो हुआ खुलासा, मुरादाबाद UP निवासी है मृतक

खबरें और भी हैं...