• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • The Marriage Was Done In Gaurakpur With One And A Half Lakh Rupees; FIR Against Three Including The Director Of The Marriage Bureau On The Report Of The Victim

शादी के बाद रेलवे स्टेशन से भागी दुल्हन:डेढ़ लाख रुपए लेकर गौरखपुर में कराई थी शादी; खरीददारी का बहाना कर भागी

अजमेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पीड़ित युवक। - Dainik Bhaskar
पीड़ित युवक।

अजमेर के एक युवक की गौरखपुर में डेढ़ लाख रुपए लेकर शादी कराने व वहां रेलवे स्टेशन से दुल्हन के भाग जाने का मामला सामने आया है। मलूसर रोड शांति नगर टेलिफोन एक्सचेंज के पीछे, अजमेर निवासी पीड़ित राम सिन्धी ने शिकायत दी है। क्लॉक टावर थाना पुलिस ने चावला मैरीज ब्यूरो संचालक, लोहाखान प्रताप नगर अजमेर निवासी कन्हैया व ओमप्रकाश के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

दो शादियों के लिए हुई बात

परिवादी राम सिन्धी ने रिपोर्ट देकर बताया कि खुद और भाई भगवानदास की शादी के लिए चावला मैरिज ब्यूरो आशागंज से 25 सितम्बर को सम्पर्क किया। वहां काम करने वाले कन्हैया ने दो लड़कियां उत्तर प्रदेश-गौरखपुर में बताई। वहीं पर शादी करवाने का व लड़की दिखाने का कार्य अपने साथी ओमप्रकाश व अपनी पत्नी बहन के साथ मिलकर करता था एवं लड़की दिखाने व शादी कराने का आने जाने का खर्चा लेता था। लड़कियां पसंद आने पर ढाई लाख रुपए लेता था। जिसकी समस्त जिम्मेदारी लेने पर यह राशि देने पर तैयार हो गया।

डेढ़ लाख लेकर एक की कराई शादी

इसके बाद आठ अक्टूबर को उसे व उसके भाई को गौरखपुर लड़की दिखाने व शादी कराने के लिए लेकर गए। 9 अक्टूबर को उसे व उसके भाई को लड़कियां दिखाई जिनका नाम सुमन व रिया बताया। लड़कियों के भाई अनिल से बातचीत करने के बाद ओमप्रकाश व कन्हैया ने डेढ़ लाख रुपए लिए। अगले दिन 10 अक्टूबर को भगवान की शादी सुमन से घर पर ही करवा दी। खुद की शादी के बारे में पूछने पर बताया कि अभी सभी अजमेर चल रहे हैं और अजमेर से वापस आने पर करा देंगे, चिंता न करें।

खरीददारी का कहना कर भागी दुल्हन

इसके बाद सभी अजमेर आने के लिए सुमन को लेकर दुल्लड स्टेशन -गौरखपुर आ गए। इसके बाद सुमन व उसकी माता व भाई ने कहा कि अभी ट्रेन आने में समय है, जब तक हम कुछ खरीददारी कर आते हैं और दो हजार रुपए लेकर खरीदारी करने गए। काफी समय बाद नहीं लौटे तो कन्हैया व ओमप्रकाश से पूछा तो उनका कहना रहा कि हमारा काम शादी कराने का था। अजमेर चलना है तो चलो, वरना खुद ही ढूंढ़ लो।

मानसिक प्रताड़ना व समाज में बदनामी

परिवादी ने बताया कि इससे मानसिक प्रताड़ना व समाज में बदनामी हुई और आरोपियों ने धोखाधड़ी कर एकराय होकर व मिलीभगत कर डेढ़ लाख रुपए हड़पे। पैसे मांगने पर जान से मारने की धमकी भी दी।अत: आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। पुलिस ने तीनों के खिलाफ मामला दर्ज किया। मामले की जांच एएसआई दयानंद शर्मा को सौंपी गई है।