पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जिला प्रमुख चुनाव:परदे के पीछे चला कांग्रेस का सियासी खेल और आखिर पलट दी भाजपा की जीती बाजी

अजमेर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कांग्रेस नेता सक्रिय नहीं दिखे, फिर भी सदस्य रहे एकजुट

(पंकज यादव)
जिला परिषद में भाजपा से जिला प्रमुख बनने के साथ ही लगातार चौथी बार पार्टी का बोर्ड बनना बुधवार तक तय माना जा रहा था लेकिन गुुरुवार काे जैसे ही जिला प्रमुख पद के लिए पार्टी ने जैसे ही महेंद्र सिंह मझेवला को प्रत्याशी घोषित किया तो बगावत का झंडा बुलंद हो गया।
भाजपा के कद्दावर नेता भंवर सिंह पलाड़ा और उनकी पत्नी पूर्व जिला प्रमुख सुशील कंवर पलाड़ा ने जब बगावत की ताे ये स्पष्ट हो गया कि अब पार्टी की डगर मुश्किल है।

एक दिन पहले हार से मिली चोटों को सहलाने में लगे कांग्रेसियों को इस बगावत ने वह मल्हम दे दिया, जिसने तत्काल असर दिखाया। कांग्रेस के दिग्गजों ने पिछले नगर निगम चुनाव से सबक लेते हुए परदे के पीछे से ही राजनीतिक कौशल दिखाते हुए तत्काल पलाड़ा को समर्थन देने का ऐलान कर अपने प्रत्याशी का नाम वापस ले लिया। बात फिर भी नहीं बन सकती थी क्योंकि कांग्रेस के 11 सदस्य और सुशील कंवर पलाड़ा का मिलाकर 12 वोट ही होते, लेकिन पलाड़ा दंपती ने पार्टी के कुछ नेताओं की नीयत को शायद पहले ही भांप लिया था और करीब 12 भाजपा सदस्यों को अपने पाले में रखा हुआ था।

भंवर सिंह पलाड़ा ने सियासी चातुर्य से भाजपा सदस्याें का भी पा लिया समर्थन

जिला परिषद में बड़े उलटफेर के साथ ही कांग्रेस के दिग्गजों ने 11 पंचायत समितियों में से 9 में हुई भाजपा की शानदार जीत को धो डाला। कांग्रेस ने जहां मसूदा पंचायत समिति भाजपा से छीन ली, वहीं जवाजा में भाजपा के 16 सदस्यों की जीत के बावजूद निर्दलीय को प्रधान पद पर काबिज करवा दिया। किशनगढ़ में भी भाजपा की जीत एक दिन ही कायम रह पाई और यहां भी जोड़ तोड़ की ऐसी राजनीति चली कि जीती हुई बाजी भाजपा हार गई।

सीधे तौर पर तो कांग्रेस के किसी दिग्गज का नाम नहीं लिया जा सकता लेकिन जिस तरह जीत के बाद पलाड़ा ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा का आभार जताया, उससे यह बात निकलकर सामने आती है कि रघु शर्मा ने हारी हुई बाजी को पार्टी के पक्ष में कर दिया। वहीं राजनीतिक भाजपा के दिग्गज के तौर पर कमान संभाल रहे विधायक सुरेश रावत, ब्यावर से राजेंद्र विनायका, किशनगढ़ से विकास चौधरी और भाजपा देहात अध्यक्ष देवीशंकर भूतड़ा की या तो रणनीति फेल हो गई या फिर इस पूरे सियासी घटनाक्रम में सभी ने अपनी राजनीतिक पारी को आगे बढ़ाने के लिए अपने हिसाब से पत्ते खोले।

राजनीतिक कला कौशल की अंदरूनी कहानी .... किस तरह हुआ बड़ा उलटफेर
भाजपा ने गुुरुवार सुबह जब महेंद्र सिंह मझेवला को जिला प्रमुख का प्रत्याशी घोषित किया तो भाजपा के देहात अध्यक्ष देवीशंकर भूतड़ा, विधायक सुरेश रावत व अन्य ने सभी जीते हुए सदस्यों काे नारेली स्थित जैन मंदिर में आने के लिए फोन किए। मझेवला सहित भाजपा के कुल 21 सदस्य जीते थे लेकिन नारेली केवल 11 ही पहुंचे। नारेली पहुंचने वालों में पूर्व जिला प्रमुख पुखराज पहाड़िया, पूर्व जिला परिषद सदस्य श्रवण सिंह रावत तथा अन्य निर्वाचित सदस्य इंदिरा, नाथलाल, राजेंद्र प्रसाद, कैलाशचंद, रूकमा देवी, दिलीप और वार्ड 31 से जीते शिवराज भील शामिल रहे। मझेवला को मिलाकर कुल 11 हुए लेकिन मझेवला को 9 वोट ही मिले। यानी जो सदस्य एकत्रित हुए उनमें से भी दो ने क्रास वोटिंग कर दी।

.... और यह सदस्य पहुंचे ही नहीं, कुछ बागी प्रत्याशी के साथ आए
पार्टी के नेताओं का मैसेज मिलने और नारेली जैन मंदिर में एकत्रित होकर वहां से एक साथ वोट डालने के लिए जाने की रणनीति को कुछ नवनिर्वाचित सदस्यों ने फेल कर दिया। भाजपा के सीताराम, हंगामी लाल, मीरा कंवर, खुशीराम वैष्णव, गौरादेवी उर्फ गोरली, सुमन कंवर, संजू देवी और दिनेश कुमार भाजपा नेताओं के बुलावे पर नारेली नहीं गए। पलाड़ा जब वोट डालने आईं तो उनके साथ मीरा कंवर, गौरादेवी, सुमन कंवर, संजू देवी और दिनेश कुमार साथ थे। यानी बगावत में बड़ी संख्या में भाजपा सिंबल पर जीते सदस्य शामिल रहे।

  • केवल नसीराबाद और ब्यावर के वार्ड सदस्यों का मिला सहारा : मझेवला को जो 9 वोट मिले हैं उसमें अधिकतर सदस्य नसीराबाद और ब्यावर विधानसभा क्षेत्रों से हैं। केकड़ी, मसूदा, किशनगढ़ क्षेत्र के सदस्यों से समर्थन नहीं मिल पाया।
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज समय कुछ मिला-जुला प्रभाव ला रहा है। पिछले कुछ समय से नजदीकी संबंधों के बीच चल रहे गिले-शिकवे दूर होंगे। आपकी मेहनत और प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। किसी धार्मिक स्थल पर जाने से आपको...

    और पढ़ें