• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • The Son Of The Deceased Got The FIR Done; People Expressed Their Anger For Waiving The Fine, Giving Compensation And Taking Action Against The Guilty

डिस्कॉम अधिकारियों से परेशान पूर्व वार्ड पंच ने खाया जहर:बिजली चोरी पर पौने तीन लाख का जुर्माना लगाया था, गिरफ्तार करने की धमकी देते थे

अजमेर4 महीने पहले

डिस्कॉम अधिकारियों से परेशान पूर्व वार्ड पंच ने जहर खाकर जान दे दी। आरोप है कि उस पर गलत तरीके से पौने तीन लाख का जुर्माना लगाया गया था। डिस्कॉम विजिलेंस के अधिकारी उसे परेशान कर रहे थे। विजिलेंस टीम उसे धमका रही थी कि पेनाल्टी नहीं भरने पर गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उसे बार-बार नोटिस भी दे रहे थे। बुजुर्ग की मौत के बाद परिजनों ने गुरुवार सुबह विरोध-प्रदर्शन शुरू कर दिया। सूचना मिलने पर पुलिस और डिस्कॉम अधिकारी मौके पर पहुंचे। काफी समझाने के बाद वो शव लेने पर राजी हुए। मामला अजमेर स्थित श्रीनगर के नौलखा गांव का है।

नोटिस से परेशान थे
पूरण सिंह (56) पोल्ट्री फॉर्म चलाते थे। उनके बेटे सज्जन सिंह ने श्रीनगर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराया है। आरोप लगाया कि जुलाई में पोल्ट्री फार्म में अवैध तरीके से डिस्कॉम अधिकारियों ने बिजली चोरी का 2 लाख 73 हजार 60 रुपए का जुर्माना लगाया था। पिताजी अधिकारियों के चक्कर काटते रहे, पर विजिलेंस टीम बार-बार नोटिस भेजती रही। नोटिस के साथ जुर्माना भरने का दबाव बना रहे थे। जब उन्होंने जुर्माना नहीं भरा तो गिरफ्तारी की धमकी देने लगे। बेटे ने आरोप लगाया है कि इससे परेशान उसके पिता ने गुरुवार दोपहर घर में जहर खाकर जान दे दी।

पोल्ट्री फॉर्म मालिक पूरण सिंह के सुसाइड के बाद मॉर्च्यूरी के बाहर गुरुवार सुबह परिजन हंगामा करने लगे।
पोल्ट्री फॉर्म मालिक पूरण सिंह के सुसाइड के बाद मॉर्च्यूरी के बाहर गुरुवार सुबह परिजन हंगामा करने लगे।

अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग
गुरुवार सुबह पोस्टमॉर्टम के लिए आए ग्रामीण और परिजन हंगामा करने लगे। उनका आरोप था कि अधिकारियों के दबाव के कारण पूरण सिंह ने जान दी। उनकी मांग थी कि पहले जुर्माना राशि माफ की जाए। इसके साथ ही आर्थिक सहायता और जुर्माना लगाने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। सूचना मिलने पर पुलिस व डिस्काॅम अधिकारी मौके पर पहुंचे और कार्रवाई का आश्वासन दिया। समझाने के बाद पोस्टमॉर्टम कर शव परिजनों को सौंपा। अजमेर डिस्कॉम SE शीशराम वर्मा ने बताया कि परिजनों ने शिकायत की है। इसकी जांच की जाएगी।

ग्रामीणों और परिजनों को समझाते पुलिस अधिकारी। काफी समझाने के बाद परिजन शांत हुए और शव लेने को राजी हुए।
ग्रामीणों और परिजनों को समझाते पुलिस अधिकारी। काफी समझाने के बाद परिजन शांत हुए और शव लेने को राजी हुए।

(फोटो सहयोग-जीतू रावत)