पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

काश! इस बार भी टल जाए जल संकट:34 में से 29 साल सितंबर में हुई मानसून की बारिश से आया है बीसलपुर बांध में पानी

अजमेर18 दिन पहलेलेखक: गिरीश दाधीच
  • कॉपी लिंक
  • कैचमेंट के 7 में से 6 जिलों में कमजोर बारिश, टोंक जिले में ही औसत से ज्यादा बारिश

बीसलपुर बांध में गुजरे 34 सालों में 29 साल ऐसे भी रहे है, जब बांध में गुजरते मानसून के सितंबर महीने में भी पानी की आवक होती रही है। बीसलपुर में इस सितंबर में भी पानी की आवक होती है तो संभावित जल संकट से काफी हद तक राहत मिल सकती है। मौजूदा समय में सोमवार को बांध का जल स्तर 310.62 मीटर रहा।

जबकि 312 मीटर जल स्तर हो जाने के बाद एक वर्ष यानी आगामी मानसून तक 48 के अंतराल में जिले को प्यास बुझाने के लिए मिल सकता है। सितंबर महीने में यदि एक-दो अच्छी बारिश हो जाए और 1.38 मीटर पानी और आ जाए तो कटौती टल सकती है।

हालांकि जलदाय विभाग किसी भी प्रकार की रिस्क लेने के बजाए कटौती की तैयारियों में जुट गया है। मालूम हो कि वर्ष 2019 में जल संकट के चलते भीलवाड़ा से वाटर ट्रेन से चंबल का पानी लाने की तैयारियां की गई थी, मगर एनवक्त पर आई भारी बारिश से ना केवल जल संकट टल गया, बल्कि 93 टीएमसी यानी बांध का ढाई गुणा पानी 63 दिन गेट खोलकर निकाला गया था।

इस मानसून में बीसलपुर का जलस्तर

सबसे कम जल स्तर

  • 26 जुलाई 2021 % 309.36 मीटर सबसे अधिक जल स्तर
  • 16 अगस्त 2021 : 310.82 मीटर मौजूदा जल स्तर
  • 6 सितंबर 2021: 310.62 मीटर।

कम दबाव का क्षेत्र बंगाल की खाड़ी में बना है। इससे दो से तीन दिनों तक इससे मानसून सक्रिय रह सकता है। मानसून ट्रफ लाइन का भी असर बारिश के रूप में हो सकता है। 8 सितंबर को उदयपुर संभाग में बारिश की संभावना है। 9 एवं 10 सितंबर को उदयपुर, अजमेर संभाग में मध्यम एवं भारी बारिश हो सकती है। -आरएस शर्मा, निदेशक, मौसम केंद्र, जयपुर

बीसलपुर बांध में 34 में से 29 सालों में सितंबर महीने में पानी की आवक दर्ज की गई है। ऐसे में इस सितंबर भी बारिश हो और बांध में पानी की आवक हो तो अतिश्योक्ति नहीं होगी। हालांकि उच्च अधिकारियों के निर्देश पर कटौती के प्लान पर भी विचार किया जा रहा है। -रामनिवास खाती, एईएन, बीसलपुर, जलदाय विभाग

खबरें और भी हैं...