पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • There Is So Much Confidence That The Tiny Sprout Will Erupt One Day, The Color Of Poetry In The Literature Stream Of Ajayameru Press Club

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अजयमेरू प्रैस क्लब:इतना तो विश्वास है फूट ही जायेगा नन्हा अंकुर एक दिन,अजयमेरू प्रैस क्लब की साहित्यधारा में खूब जमा कविता का रंग

अजमेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अजयमेरू प्रैस क्लब की लगातार नवीं बार आयोजित ऑनलाइन साहित्यधारा में शहर के साहित्यकारों ने अपनी काव्य रचनाएं प्रस्तुत की। संयोजक उमेश कुमार चौरसिया ने बताया कि इस बार काव्य रचनात्मकता की दृष्टि से इतना तो विश्वास है पंक्ति को सम्मिलित करते हुए काव्य रचना करने को कहा गया था, इसी आधार पर अधिकांश कवियों ने बहुत प्रभावी गीत, कविता, गजल की रचनाएं प्रस्तुत की।

क्लब अध्यक्ष डाॅ. रमेश अग्रवाल ने आभार जताया। लखन लाल माहेश्वरी की रचना प्रेम से सब अपने हो जाते हैं को पसंद किया गया। डॉ. नीलिमा तिग्गा की ‘अभिव्यक्ति देश प्रेम की ज्वाला जलेगी’ ने भी दाद बटोरी। रंजना माथुर की कविता ‘इतना तो विश्वास है सत्य की होगी विजय’ को तालियां मिली। संदीप पांडे की प्रस्तुति ‘बहुत बड़े बन जाए अच्छी बात है’ में शब्दों के प्रयोग की बड़ी प्रशंसा की गई।

रेखा भाटिया की भावुक कविता ‘मन की किताब सांसों की सरगम पर’ सभी को भावविभोर कर गई। डॉ. प्रमोद कुमार शर्मा की रचना ‘इतना तो विश्वास है कि एक दिन ऐसा भी आएगा, जब हर दिवस के महत्व को बच्चा बच्चा जान पाएगा’ को बहुत सराहना मिली।

संचालन करते हुए बाल साहित्यकार गोविन्द भारद्वाज ने ‘’जगमग होगी दीवाली सबकी ‘’ व अन्य मुक्तक प्रस्तुत किए। डॉक्टर बृजेश माथुर का गीत ‘जब तक अंतिम सांस है साथी’ और अनंत भटनागर की परिकल्पना ‘इतना तो विश्वास है फूट ही जायेगा नन्हा अंकुर एक दिन ‘ से समा बन गया। उमेश कुमार चौरसिया ने समकालीन परिस्थिति पर आशावाद की किरण दिखाते हुए प्रस्तुति’ छाया हो घनघोर अंधेरा, नई भोर की आस है

मन जीवन उल्लास जगेगा, इतना तो विश्वास है’ रचना पटेल पर रखी। सह संयोजक सुमन शर्मा की अमर प्रेम, डॉ. चेतना उपाध्याय की प्रस्तुति स्नेहिल अपनत्व के घटते एहसास तथा कविता अग्रवाल की कविता तुम चले आना ने भी प्रभावित किया। अंजू अग्रवाल की रचना रात का हो तिमिर गहरा, पूनम पांडे सर्दी वाली एक बेदर्द सुबह व देवदत्त शर्मा की कल्पना अयोध्या में त्रेतायुग जैसी सजावट को सराहना मिली। विनीता बाड़मेरा, डॉ. विनीता जैन, डॉ. महिमा श्रीवास्तव वह विपिन जैन ने भी तालियां बटोरी। गंगाधर शर्मा के मुक्तक बहुत सराहे गए। तेज सिंह कच्छावा व के के शर्मा ने भी प्रस्तुति दी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपको कई सुअवसर प्रदान करने वाली हैं। इनका भरपूर सम्मान करें। कहीं पूंजी निवेश करने के लिए सोच रहे हैं तो तुरंत कर दीजिए। भाइयों अथवा निकट संबंधी के साथ कुछ लाभकारी योजना...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser