लेकफ्रंट पुरानी विश्राम स्थली:एक किमी क्षेत्र में होगी हरियाली;  लगेंगे 1600 पेड़ और 1500 वर्ग मीटर क्षेत्रफल में घास एवं बेल

अजमेरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अजमेर के पुरानी विश्राम स्थली पर लेकफ्रंट - Dainik Bhaskar
अजमेर के पुरानी विश्राम स्थली पर लेकफ्रंट
  • अजमेर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत खर्च होंगे 5.46 करोड़ रुपए

अजमेर में लेकफ्रंट ओल्ड विश्राम स्थली पर पर्यावरण को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न किस्मों के 1600 पेड लगाए जाएंगे। इसी प्रकार 1500 वर्ग मीटर क्षेत्रफल में घास एवं बेल विकसित करेंगे। आनासागर के किनारे चारों ओर हरियाली स्थानीय लोगों व पर्यटकों के लिए आकर्षण का केन्द्र होगी।

अजमेर स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत आनासागर झील के चारों और चहुमुखी विकास कार्य किए जा रहे हैं। जिसमें से एक आनासागर के किनारे पर लेक फ्रन्ट डवलपमेन्ट और बर्ड पार्क का निर्माण कार्य प्रगति पर है। पुष्कर रोड स्थित पुरानी विश्राम स्थली पर 5.46 करोड़ रुपए की लागत से आनासागर लेक फ्रंट डवलपमेंट और बर्ड पार्क का निर्माण करवाया जा रहा है। झील के चारों तरफ चौपाटी निर्माण से पर्यटन का विकास हुआ है।

आनासागर लेक फ्रंट डवलपमेंट के तहत वॉक वे का 90 प्रतिशत कार्य पूर्ण कर लिया गया है। यहां पर एक किलोमीटर क्षेत्र में 1600 पेड़ विभिन्न किस्मों के लिए जाएंगे। चारों ओर हरियाली के बीच यहां घूमने आने वाले लोग एवं पर्यटक अपने आपको प्रकृति के करीब पाएंगे।

वर्तमान में आनासागर बर्ड पार्क का लगभग 80 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है व शेष बगीचे को हरा-भरा करने का कार्य मार्च 2021 तक पूरा हो जाएगा। लेकफ्रंट पर दो मुख्यद्वार बनाए जा रहे हैं। इनमें से एक बनकर तैयार हो गया है। सिविल कार्य मार्च 2021 तक पूर्ण हो जाएगा।

लेकफ्रंट पर तैयार किया जा रहा गेट
लेकफ्रंट पर तैयार किया जा रहा गेट

म्यूजिकल फाउंटेन का स्ट्रक्चर तैयार
नगर निगम आयुक्त एवं अजमेर स्मार्ट सिटी लिमिटेड अजमेर के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. खुशाल यादव ने बताया कि लेकफ्रंट पर बॉटनिकल गार्डन, वॉक वे, म्यूजिकल फाउंटेन, फूड कोर्ट और गजीबो बनाए जाने हैं। यहां पर आने वाले लोगों एवं पर्यटकों के बैठने की भी व्यवस्था है। लेकफ्रंट पर म्यूजिकल फाउंटेन के लिए स्ट्रक्चर बनकर तैयार हो गया है।