रसोई गैस पर सब्सिडी जारी रखने की मांग:यूनियनों की हुंकार पेट्रोल-डीजल, सिलेंडर के दाम कम करे सरकार

अजमेर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रविवार को संयुक्त श्रमिक समन्वय समिति के तत्वावधान में रेलवे, बीमा, राज्य कर्मचारी, रोडवेज, बैंक मेडिकल रिप्रजेन्टेटिव, भवन निर्माण, एचएमटी, पोस्टल विभाग के कर्मचारी यूनियनों ने महंगाई के विरोध में साइकिल रैली निकाली। समिति के अध्यक्ष मोहन चेलानी एवं समन्वयक सुनीत पुट्टी ने बताया कि रविवार को सुबह आनासागर पुरानी चौपाटी से साइकिल रैली शुरू हुई, जो जवाहर रंगमंच, बीएसएनएल कार्यालय, सावित्री काॅलेज, अजमेर क्लब, कलेक्ट्रेट, अम्बेडकर सर्किल, पुरानी आरपीएससी, अग्रसेन सर्किल, जेएलएन अस्पताल, बजरंगग-सजय चैराहा, होते हुए पुनः आनासागर चौपाटी पर समाप्त हुई।

महंगाई के लिए केंद्र और राज्य सरकार को जिम्मेदार बताया

रैली में शामिल सैकड़ों साइकिलों पर महंगाई के विरोध में पेट्रोल-डीजल के दाम कम करो, रसोई गैस पर सब्सिडी जारी रखें, खाद्य वस्तुओं की कीमत को कन्ट्रोल करो, खाद्य तेल एवं दालों के भावों पर नियंत्रण करो लिखे नारे की तख्तियां लगी थी। रैली को अध्यक्ष मोहन चेलानी, समन्वयक सुनीत पुट्टी, नाॅर्थ वेस्टर्न रेलवे एम्पलाइज यूनियन के मंडल सचिव अरुण गुप्ता, विपुल सक्सैना, जगदीश सिंह, महेन्द्र सिंह गोदारा, गजेंद्र महावर, एलआईसी से उमेश उपाध्याय, राजस्थान राज्य कर्मचारी महासंघ (एकीकृत) से कान्ति कुमार शर्मा, जनरल इंश्योरेंस एम्पलाइज एसोसिएशन के राजेन्द्र कुमार, विजेंद्र राव, रोडवेज यूनियन से रामलाल यादव, मेडिकल चौपाटी एसोसिएशन के महेश गंगवानी एचएमटी. यूनियन के एसएस. सिन्हा, भंवरलाल, भवन निर्माण कामगार यूनियन के गणपत लाल गोरा, पोस्टल यूनियन के करण सिंह ने सं‍बोधित करते हुए पेट्रोल-डीजल, रसोई गैस एवं खाद्य पदार्थों के बढ़ते दामों के लिए केन्द्र एवं राज्य सरकार को जिम्मेदार बताया।

टांगे पर बैठे | रैली में वरिष्ठ नागरिक तांगों पर बैठकर सरकार के विरोध में नारे लगा रहे थे। नर्सिंग एसोसिएशन ने जेएलएन अस्पताल के सामने और ललित नागरानी ने आनासागर चौपाटी के सामने रैली का स्वागत किया। रैली में शामिल लोगों ने सरकार से जल्द से जल्द महंगाई कम करने की मांग की।

खबरें और भी हैं...