पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

भास्कर फॉलोअप:बिना अनुमति डिस्काॅम के पाेल इस्तेमाल करने पर गिरेगी गाज

अजमेर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पाेललेस का काम शुरू, एईएन के नेतृत्व वाली टीमों द्वारा सर्वे पर चिह्नित करने का कार्य जारी

इंटीग्रेटेड पाॅवर डेवलपमेंट स्कीम (आईपीडीएस) के तहत लंबे समय से बंद पाेल डिस्मेंटल यानी पोललेस का कार्य शुरू कर दिया गया है। शास्त्रीनगर राेड पर 2.5 किलाेमीटर क्षेत्र में पूरा हाेने के बाद यह कार्य ताेपदड़ा और फिर अजयनगर रूट पर हाेगा। डिस्काॅम के एईएन स्तर के दाे अधिकारियाें के नेतृत्व में गठित टीमाें ने जगह-जगह फैले ताराें के जंजाल काे लेकर सर्वे शुरू कर दिया गया।

सर्वे में यह चिह्नित किया जा रहा है कि काैन-काैनसे सर्विस प्राेवाइडर डिस्काॅम के पाेल का इस्तेमाल कर रहे हैं और कितने समय से ऐसा किया जा रहा है। टीम एक सप्ताह में उच्चाधिकारियाें काे रिपाेर्ट साैंपेगी। भास्कर में “शहर पोललेस करने की जिम्मेदारी लेने वाला डिस्कॉम ही पाेल किराए पर देकर बढ़ा रहा है ताराें का जंजाल’ शीर्षक से खबर प्रकाशित हाेने के बाद डिस्कॉम के अफसर हरकत में आए।

रिलायंस काे नाेटिस, अन्य प्राेवाइडर्स काे कर रहे हैं चिह्नित
डिस्काॅम के एक्सईएन (सिटी) गाेपाल चतुर्वेदी ने कहा कि शहर में डिस्काॅम के पाेल काैन-काैन इस्तेमाल कर रहा है, इस बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। दाे एईएन स्तर के अफसराें के नेतृत्व वाली टीमाें काे जिम्मेदारी साैंपी गई है। यह टीम एक सप्ताह में रिपाेर्ट पेश करेगी। टीम यह बता लगाएगी कि रिलायंस के अलावा काैन-काैनसे सर्विस प्राेवाइडर और कब से और कितने पाेल का इस्तेमाल कर रहे हैं। रिलायंस काे डिस्काॅम ने नाेटिस देकर बकाया जमा कराने काे कहा है। रिपाेर्ट आने के बाद ऐसे सर्विस प्राेवाइडर्स के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी जाे बिना अनुमति पाेल का इस्तेमाल कर रहे हैं।

शास्त्रीनगर में पोललेस का कार्य प्रारंभ, फिर ताेपदड़ा और अजयनगर में हाेगा काम : आईपीडीएस के एईएन अरुण जांगिड़ ने कहा कि पोललेस और डिस्मेंटल का कार्य शास्त्रीनगर राेड पर प्रारंभ कर दिया गया है। यहां 2.5 किलाेमीटर क्षेत्र काे पोललेस किया जाना है। संबंधित क्षेत्र में बारी-बारी से शटडाउन लेना हाेगा, इसलिए इसमें 15 से 20 दिनाें का समय लगेगा। इसके बाद ताेपदड़ा क्षेत्र में डिस्मेंटल का कार्य हाेगा। यहां अंडरग्राउंड केबलिंग की जा चुकी है, डिस्काॅम ने इसका क्लीयरेंस दे दिया है। ताेपधड़ा के बाद यह कार्य अजयनगर क्षेत्र में हाेगा।

कई जगह झूल रहे हैं डेड वाॅयर
शहर के अधिकतर हिस्साें में बिजली, इंटरनेट, केबल सहित अन्य ताराें का जंजाल फैला है। कई जगह ताे ऐसी हैं जहां कई तार वर्षाें पुराने हैं और उनका काेई इस्तेमाल नहीं है। डेड वायर भी जगह-जगह झूलते देखे जा सकते हैं। इनमें सबसे ज्यादा निजी केबल और इंटरनेट सर्विस प्राेवाइड कराने वाली कंपनियाें के तार हैं।

पाेललेस एक नजर

इंटीग्रेटेड पाॅवर डेवलपमेंट स्कीम (आईपीडीएस) के तहत जीएसएस, अंडर ग्राउंड केबलिंग और पाेल डिस्मेंटल यानी पोललेस का कार्य किया था। ओवरहैड बिजली की लाइनाें काे भूमिगत केबलिंग में परिवर्तित किया जाना है। अप्रैल-मई 2018 की इस याेजना के पूरे हाेने की समयावधि 2 साल यानि मई 2020 थी। लाॅकडाउन के कारण काम ठप रहा। अब तीन माह का अतिरिक्त समय दिया गया। अब तक शहर में अंडरग्राउंड केबलिंग का 11 केवी का करीब 20 किलाेमीटर एरिया में पूरा हाे चुका है, जबकि एलटी लाइन का कार्य करीब 40 से 45 किलाेमीटर क्षेत्र में पूरा किया जा चुका है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें