• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Was Thrashed For Being Caught On Suspicion Of Theft; Murder Case Registered On Mother's Report, Police Engaged In Investigation

रंगेहाथ पकड़े गए चोर को पीट-पीटकर मार डाला:दीवार फांद कर घुसा तो दुकान मालिक के परिवार ने पकड़ कर पीटा, मां हाथ जोड़कर गिड़गिड़ाती रही, लेकिन किसी ने नहीं सुनी

अजमेरएक वर्ष पहले
शव को लेकर जाती पुलिस।

अजमेर में एक युवक को इतना पीटा गया कि उसकी मौत हो गई। युवक चोरी की नीयत से दुकान में घुसा था। जिसे दुकान मालिक और उसके परिवार ने पकड़ लिया। पूरे परिवार ने मिलकर युवक की जमकर पिटाई की। आरोपी की मां हाथ जोड़ती रही कि उसके बेटे को मारो मत पुलिस को सौंप दो, लेकिन गुस्साए लोग नहीं माने। इससे भी मन नहीं भरा तो उसे पुलिस को सौंपने की बात कहकर वैन में डालकर ले गए।

मां थाने पहुंची तो वहां उसका पता नहीं चला। सोमवार देर रात पुलिस को अंदरकोट क्षेत्र में शव मिलने की सूचना मिली। जांच की तो पता चला कि यह वही युवक था, जिसकी लोगों ने जमकर पिटाई की थी। शव को अजमेर में जवाहर लाल नेहरू अस्पताल की मॉर्चरी में रखा गया। मृतक की मां की रिपोर्ट पर पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू की। युवक की तीन महीने पहले ही शादी हुई है।

सोमवार देर शाम अंदरकोट इलाके से एक व्यक्ति ने पुलिस को शव मिलने की सूचना दी। पुलिस को बताया कि ढाई दिन के झोपड़े के पास लतीफ के मकान के कमरे में युवक की लहूलुहान लाश पड़ी है। मृतक की शिनाख्त गरीब नवाज कॉलोनी निवासी इशाद अली (20) के रूप में हुई। पुलिस मौके पर पहुंची। फर्श पर खून बिखरा हुआ था। इशाद के सिर, चेहरे और हाथ-पैर में कई चोटें हैं। एफएसएल टीम बुलाकर जांच कराई गई। शव को अजमेर में जवाहर लाल नेहरू अस्पताल की मॉर्चरी में रखा गया और मंगलवार को पोस्टमार्टम कर परिजनों को शव सौंप दिया गया। घटना के बाद युवक की मां ने हत्या का मामला दर्ज करवाया है।

मौके पर जांच करती पुलिस
मौके पर जांच करती पुलिस

सुबह की गई थी युवक की पिटाई

पुलिस पड़ताल में पता चला कि युवक सोमवार अलसुबह एक दुकान में दीवार फांद कर घुसा था। भीतर सो रहे दुकान मालिक ने उसे पकड़ लिया। चोरी के शक में युवक को पीटना शुरू कर दिया। इस दौरान मौके पर लोगों की भीड़ भी एकत्र हो गई। इसके बाद लोगों ने उसे जमकर पीटा था, बाद में उसे वैन में ले गए थे।

मां ने लगाए यह आरोप

मृतक इशाद की मां ने पुलिस को बताया कि बेटे के पकडे़ जाने पर मारपीट नहीं करने की गुहार लगती रही। उसने पुलिस को सौंपने की बात भी कही, लेकिन आरोपियों ने एक नहीं सुनी। आरोपी उसे लहूलुहान हालत में पुलिस को सौंपने की बात कहते हुए वैन में लेकर चले गए। इसके बाद थाने पर भी गई, लेकिन इशाद का पता नहीं चला। शाम को सूचना मिली कि युवक की लाश मिली है तो मां ने उसकी पहचान कर पुष्टि की।

अंदरकोट क्षेत्र में मौजूद भीड़ व पुलिस
अंदरकोट क्षेत्र में मौजूद भीड़ व पुलिस

तीन महीने पहले हुई थी शादी

मृतक के पिता अब्दुल अजीज ने बताया कि 20 वर्षीय इशाद की तीन महीने पहले ही कोलकाता की युवती रशीदा से शादी हुई थी। वह फुटकर मजदूरी करता था। मां की रिपोर्ट पर पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

4 के खिलाफ दी गई रिपोर्ट

सीआई दलवीरसिंह ने बताया कि मां की रिपोर्ट पर नवेद, परवेज, जुनेद व उनके पिता लतीफ पर मारपीट कर हत्या करने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है। नवेद मुख्य आरोपी है और उसे हिरासत में ले लिया है और पूछताछ जारी है।

खबरें और भी हैं...