पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Went To The Highway Shop To Pick Up Sweets From The Village; Car Collided, Two Youths Died; A Seriously Injured, Beawar Admitted To AKH

अजमेर में दर्दनाक हादसा:गांव से मिठाई लेने हाईवे की दुकान पर गए; कार ने मारी टक्कर, दो युवकों की मौत; एक गम्भीर रूप से घायल

अजमेर3 महीने पहले
ब्यावर सदर थाना पुलिस ने कार व मोटरसाइकिल जब्त कर जांच में जुटी
  • मंगलवार को शव पोस्टमार्टम के बाद परिजन को सौंपे

ब्यावर के निकट सरमालिया चौराहे पर सोमवार रात तेज गति से आ रही कार ने साइड में बाइक के पास खडे़ तीन युवकों को टक्कर मार दी, जिससे दो युवकों की मौत हो गई, जबकि एक गम्भीर रूप से घायल हो गया। गम्भीर रूप से घायल युवक को ब्यावर के राजकीय अमृतकौर चिकित्सालय (AKH) में भर्ती कराया गया है।

सूचना मिलने पर पहुंची ब्यावर सदर थाना पुलिस ने कार व बाइक को जब्त कर लिया और दोनों मृतकों के शव अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया। परिजन ने बताया कि तीनों युवक अपने गांव से मिठाई लेने के लिए हाईवे की दुकान पर आए थे और हादसा हो गया। मंगलवार को पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन के सुपुर्द कर दिए।

जानकारी के अनुसार, सरगांव निवासी साजन मेहरात (28), उसके गांव का ही रिश्तेदार सुरेश मेहरात (30) व सुरेश के चाचा के लड़के का साला अमरगढ़ चांग निवासी सलीम (22) सरगांव से मिठाई लेने के लिए सोमवार रात करीब नौ बजे सरमालिया चौराहे की हाईवे दुकान पर आए। तीनों ने अपनी बाइक खड़ी की ही थी कि अचानक ब्यावर की तरफ से तेज गति से आ रही कार ने टक्कर मार दी। टक्कर इतनी जोरदार थी कि कार व बाइक दोनों ही क्षतिग्रस्त हो गए।

सुरेश व सलीम की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि साजन गम्भीर रूप से घायल हो गया। आस पास लोगों की भीड़ जमा हो गई। सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने घायल को उपचार के लिए ब्यावर चिकित्सालय में भर्ती कराया और दोनों के शव मोर्चरी में रखवा कर परिजन को सूचना कर दी। इसके बाद पुलिस कार व बाइक को जब्त कर कार चालक को थाने ले गई। परिजन के आने पर मंगलवार को पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन को सौंप दिए।

मजदूरी करते थे युवक

अस्पताल में भर्ती घायल सुरेश के चचेरे भाई महेन्द्र ने बताया कि तीनों युवक मजदूरी करते थे। सुरेश के तीन बच्चे हैं और दो भाई है, वहीं सलीम इकलोता पुत्र था। वह अपनी बहन से मिलने के लिए सरगांव आया था।

(फोटो सहयोग-नवीन गर्ग)

खबरें और भी हैं...