कंपनी में कर्मचारी ने किया 4 लाख का गबन:पकड़ा तो दस्तावेज लाने की बात कहकर निकला, वापस नहीं लौटा, कंपनी डायरेक्टर ने कराई FIR

अजमेर6 महीने पहले
डेमो पिक।

अजमेर की एक कंपनी में कर्मचारी की ओर से चार लाख रुपए का गबन करने का मामला सामने आया है। ऑडिट के बाद जब कर्मचारी से जवाब मांगा तो दस्तावेज लाने की बात कहकर गया, जो वापस ही नहीं आया। कंपनी निदेशक की ओर से कर्मचारी के खिलाफ सिविल लाइन थाने में मामला दर्ज कराया गया है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

अजमेर आटो एजेन्‍सीज प्राइवेट लिमिटेड जयपुर रोड जयपुर अजमेर के निदेशक भावुक सहगल पुत्र सर्वेश्‍वर सहगल ने रिपोर्ट देकर बताया कि उनका वेयर हाउस ग्राम भूणाभाय जयपुर रोड अजमेर पर स्‍थित हैं। वेयर हाउस के अधीन पांच आउट लेट वर्कशॉप है। आउट लेट वर्कशॉप के इंचार्ज की डिमांड के अनुसार स्पेयर पार्टस भेजे जाते है। कंपनी में हाउसिंग बोर्ड कोलोनी नसीराबाद निवासी फरमान को अक्टूबर 2019 में नसीराबाद आउटलेट वर्कशाफ पर इंचार्ज नियुक्‍त किया। अपने कार्य के दौरान फरमान ने गत वित्तीय साल में कुल 5 लाख 94 हजार 631 रुपए के स्‍पेयर डी.एम.एस.आई के जरिए अजमेर वेयर हाउस से प्राप्‍त किए।

कम्‍पनी के वर्कशाप सर्विस पार्टस अजमेर के इंचार्ज अनुज शर्मा ने नसीराबाद आउटलेट वर्कशाप में अनियमितता देखी तो स्‍पेयर पार्टस इंचार्ज प्रकाश जोनवाल से स्‍टॉक ऑडिट कराई। इस पर पाया कि स्टॉक में 4 लाख 4 हजार 615 रुपए 54 पैसे के मूल्‍य के स्‍पेयर पार्टस नही है। जिनका भुगतान नसीराबाद आउटलेट वर्कशाप इन्‍चार्ज फरमान ने कम्‍पनी में जमा नही करवाया। कंपनी के कर्मचारी के हैसीयत से आरोपी ने इस राशि का गबन कर लिया। जब जवाब मांगा तो दस्तावेज लाने का बहाना कर चला गया और वापस नहीं आया। अत: कार्रवाई की जाए। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।