पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Will Have To Give One More, Meet Ranjit Tomorrow, There Is No Need To Tell Anywhere, Sir! ... That We Have Done The Work.

एमडीएस यूनिवर्सिटी में रिश्वत का खेल:एक और देना हाेगा, कल-परसाें रणजीत से मिल लेना, कहीं बताने की जरूरत नहीं है, साहब! ...कि हमने कर दिया है काम।

अजमेर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • घूसखाेर निलंबित वीसी की बातचीत एसीबी की स्पेशल सेल के वाॅयस रिकार्डर में कैद, जिसमें काॅलेज संचालक से लेन-देन का साैदा तय करने के बाद वीसी कह रहे हैं...
  • एसीबी ने 25 जून काे शाम 4.10 बजे की थी निलंबित वीसी की बातचीत रिकार्ड

एमडीएस यूनिवर्सिटी में घूसखाेरी मामले में एसीबी के शिकंजे में फंसे निलंबित वीसी रामपाल सिंह के खिलाफ एंटी करप्शन ब्यूराे के पास पुख्ता सबूत हैं। निलंबित वीसी की काॅलेज संचालक से घूसराशि की डिमांड के लिए बातचीत एसीबी की स्पेशल सेल जयपुर ने वाॅयस रिकार्डर में पहले ही कैद कर ली थी।

निलंबित वीसी कालेज संचालक से लेनदेन का साैदा तय करने के बाद यह कह भी कह रहे हैं कि... कहीं बताने की जरूरत नहीं है, साहब! ...कि हमने कर दिया है काम। एसीबी वाॅयस रिकार्डर की इस रिकार्डिंग काे निलंबित वीसी रामपाल सिंह के खिलाफ सबसे मजबूत सबूत मान रही है।
एसीबी ने 25 जून काे शाम 4.10 बजे की थी निलंबित वीसी की बातचीत रिकार्ड

एसीबी के अनुसार निजी कालेज के संचालक एसके बंसल ने सबसे पहले इस मामले में लिखित शिकायत एसीबी स्पेशल सेल जयपुर काे दी थी। इस शिकायत के आधार पर एडिशनल एसपी पुष्पेंद्र सिंह ने गहनता से तफ्तीश की थी। परिवादी बंसल के आराेपाें का सत्यापन कराया गया। इसके तहत बंसल की निलंबित वीसी रामपाल सिंह से रिश्वत लेनदेन संबंधी बातचीत 25 जून काे शाम 4 बजकर 10 मिनट पर वाॅयस रिकार्डर में रिकार्ड की गई।

दाेनाें के बीच बातचीत से निलंबित वीसी द्वारा रिश्वत की डिमांड करने का सत्यापन हाे गया। यही वाॅयस रिकार्डिंग निलंबित वीसी काे गिरफ्तार कर काेर्ट के आदेश से जेल पहुंचाने में मजबूत साक्ष्य बनी है। जांच अधिकारी एडिशनल एसपी पुष्पेंद्र सिंह ने रिश्वत राशि डिमांड के सत्यापन से संबंधित वाॅयस रिकार्डिंग, परिवादी का मूल शिकायत पत्र और निलंबित वीसी और परिवादी के बीच बातचीत के रिकार्डेड मैमाेरी कार्ड और जांच रिपाेर्ट एसीबी मुख्यालय में पेश की थी। इसपर डीजी आलाेक त्रिपाठी, एडीजी दिनेश एमएन के निर्देश पर निलंबित वीसी और उसके दलाल रणजीत पर शिकंजा कसा जा सका।

रिकार्डेड साक्ष्य....निलंबित वीसी ने परिवादी बंसल से यूं की थी बातचीत
निलंबित वीसी- चाैहान क्या कह रहा है...(यहां चाैहान डिप्टी रजिस्ट्रार के लिए कहा गया)
परिवादी- चाैहान ने ताे डेढ़ लाख रुपए कहा है

निलंबित वीसी- अच्छा-अच्छा, आपकी फाइल में कमियां हैं, इसे हम छह महीने में पूरा कर देंगे

परिवादी- हां सर। निलंबित वीसी- लेकिन इसके लिए एक और देना हाेगा, कल-परसाें रणजीत से मिल लेना, कहीं बताने की जरूरत नहीं है, साहब! ...कि हमने कर दिया है काम।

निजी कालेज संचालकाें के ग्रुप से एकत्र कराई जाती थी एकमुश्त माेटी राशि | एसीबी की जांच में पता चला है कि निलंबित वीसी का निजी ड्राइवर व बाॅडी गार्ड रणजीत यूनिवर्सिटी से जुड़े प्राइवेट कालेजाें के संचालकाें के कई ग्रुप से जुड़ा हुआ था। इन कालेजाें में संबद्धता, सीटें बढ़ाने, परीक्षा केंद्र बनवाने या फिर महत्वपूर्ण पदाें पर नियुक्ति के काम के लिए रणजीत निलंबित वीसी के निर्देश पर घूस में प्रत्येक ग्रुप से 10 से 20 लाख रुपए तक वसूल रहा था।

एक ग्रुप में दस-बारह कालेज हाेते थे। दलाल रणजीत की कालेज संचालकाें के साथ लेनदेन की बातचीत जाे एसीबी ने रिकार्ड की है, उसके मुताबिक रणजीत ने प्रत्येक ग्रुप में एक लीडर बना रखा था। लीडर काे अन्य कालेज संचालकाें से घूस की राशि एकत्र करने की जिम्मेदारी साैंपी गई थी, इसके एवज में लीडर की फाइलें कम दाम में निकालने का वादा किया गया था।

रिकार्ड है दलाल रणजीत की बातचीत| दलाल रणजीत के साथ कालेज संचालक मुकुल, अमिनेष, राजेंद्र, सुरेश भाकर, महिपाल सहित कई लाेगाें की बातचीत माेबाइल सर्विलांस में रिकार्ड हुई है, जिसमें वह एक कालेज संचालक से साैदेबाजी करते हुए कह रहा है कि पांच नहीं छह लाख रुपए लगेंगे, सिस्टम में सबकाे जाता है रजिस्ट्रार, असिस्टेंट रजिस्ट्रार अाैर वीसी व कमेटी भी है...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर आप कुछ समय से स्थान परिवर्तन की योजना बना रहे हैं या किसी प्रॉपर्टी से संबंधित कार्य करने से पहले उस पर दोबारा विचार विमर्श कर लें। आपको अवश्य ही सफलता प्राप्त होगी। संतान की तरफ से भी को...

और पढ़ें