पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कार्रवाई:ग्रामीणों के विरोध के बाद अतिक्रमण हटाए बिना लौट गया नगर पालिका का दस्ता

पुष्कर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नाला गांव स्थित रावतों की ढाणी में नगर पालिका की बेशकीमती जमीन से अतिक्रमण हटाने पहुंचे अतिक्रमण निरोधक दस्ते को ग्रामीणों के विरोध का सामना करना पड़ा। इतना ही नहीं ग्रामीणों के लामबंद होने के कारण पालिका कर्मियों को बिना अतिक्रमण हटाए बैरंग लौटना पड़ा। जानकारी के अनुसार रावतों की ढाणी स्थित सरकारी स्कूल के पास बुधवार को कुछ लोगों ने पालिका की जमीन पर झाड़ियां व पत्थर डाल कर अतिक्रमण करना शुरू किया। इसकी शिकायत मिलने पर पालिका के स्वास्थ्य निरीक्षक महेंद्र वर्मा, अतिक्रमण निरोधक प्रभारी लोकेंद्र पूरे लवाजमे के साथ मौके पर अतिक्रमण हटाने पहुंचे।

पालिका कर्मी अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही शुरू करते इससे पहले अतिक्रमी परिवार के साथ-साथ बड़ी संख्या में ग्रामीण महिला-पुरूष लामबंद हो गए तथा पालिका कर्मियों का घेराव कर दिया। ग्रामीणों ने पालिका प्रशासन पर अतिक्रमण हटाने के नाम पर भेदभाव बरतने का आरोप लगाते हुए अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही का जमकर विरोध किया।

ग्रामीणों ने गरीबों के अतिक्रमण हटाने से पहले पास में पालिका के पार्षदों उनके प्रभावशाली परिवारों की ओर से किए गए अतिक्रमण को हटाने की जिद पर अड़ गए। आखिर पालिकाकर्मी बैकफुट पर आ गए और बिना अतिक्रमण हटाए लौट गए। हालांकि पालिका कर्मियों ने ग्रामीणों को नया अतिक्रमण नहीं करने की हिदायत दी है।

पीसांगन पंचायत समिति के पूर्व प्रधान मोहन सिंह रावत का आरोप है कि पुष्कर के दो पार्षद परिवार ने करीब 15 बीघा बेशकीमती जमीन पर अतिक्रमण कर रखा है लेकिन पालिका प्रशासन उनके अतिक्रमण तो नहींं हटा रहा है, बल्कि गरीबों के छोटे-छोटे अतिक्रमण हटाने पर आमदा है।

खबरें और भी हैं...