पुष्कर:राष्ट्रीय झील संरक्षण योजना के तहत बने फीडर की मरम्मत और सफाई के लिए जिला कलेक्टर से की अपील

पुष्कर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पुष्कर सरोवर के जल स्तर को बढ़ाने के लिए तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के कार्यकाल में पुष्कर में झील संरक्षण योजना के तहत फीडर निर्माण किए गए थे। लंबे समय से बिना रखरखाव के फीडर के कुछ हिस्से क्षतिग्रस्त हो गए हैं। साथ ही इनमें कचरा अटा पड़ा है, जिसको लेकर पुष्कर के सामाजिक कार्यकर्ता अरुण पाराशर ने जिला कलेक्टर को पत्र लिखकर मनरेगा योजना के तहत पुष्कर सरोवर में जल आपूर्ति विदेशों में जमा मिट्टी की सफाई के साथ गत वर्ष स्वीकृत क्षतिग्रस्त दलों की मरम्मत कार्य को पूर्ण करवाने की अपील की है।

अरुण पाराशर ने जिला कलेक्टर अंशदीप से अपील की है कि सरोवर में बरसाती जल आवक के लिए राष्ट्रीय झील संरक्षण योजना के तहत निर्मित 3 पक्के फीडर में पानी के साथ बहकर आये मिट्टी कचरा जमा हो गयाहै, जिसे बरसात आने से पहले ही हटवाना बेहद जरूरी है। वरना सारा कचरा बरसात के पानी के साथ मुख्य पुष्कर सरोवर में आ जाएगा, जिससे जल प्रदूषित होगा।

इसके साथ ही 13 साल पहले पूर्व बने इन फीडर को अब रखरखाव की आवश्यकता है, जिनकी मरम्मत करने से यह अधिक समय तक उपयोगी साबित हो सकते हैं। गौरतलब है कि पूर्व में जिला कलेक्टर प्रकाश राज पुरोहित की कदी की ओर से बरसात आने से पहले ही मनरेगा श्रमिकों द्वारा फीडर की सफाई करवाई गई थी।

खबरें और भी हैं...