पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बिजली अपव्यय को रोका जा सकेगा:पुष्कर में 15 साै उपभाेक्ताओं के घराें में लगे बिजली के स्मार्ट मीटर

पुष्कर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्मार्ट मीटर योजना के तहत डिस्कॉम ने पायलट प्राेजेक्ट के रूप में पुष्कर का चयन किया है

कोरोनाकाल के कारण प्रभावित हुए बिजली के स्मार्ट मीटर लगाने के कार्य ने फिर से गति पकड़ ली है। रोजाना 40 से 50 बिजली उपभोक्ताओं के घरों पर पुराने मीटर हटा कर नए स्मार्ट मीटर लगाए जा रहे हैं। पुष्कर में कुल करीब 6 हजार उपभोक्ताओं के घरों पर स्मार्ट मीटर लगाए जाएंगे। एईएन मोहन सिंह जादौन ने बताया कि पुष्कर में अब तक करीब 15 सौ उपभोक्ताओं के घरों पर पुराने मीटर हटा कर नए स्मार्ट मीटर लगाए जा चुके हैं। कुल 6 हजार मीटर लगाए जाने का टारगेट है। प्रतिदिन 40 से 50 घरों पर मीटर लगाए जा रहे है। मीटर लगाने की गति यही रही तो अगले तीन माह में टारगेट पूरा होगा।

केंद्र सरकार की स्मार्ट मीटर योजना के तहत डिस्कॉम ने अजमेर जिले में पुष्कर को पायलट प्रोजेक्ट के रूप में चयन किया है। पिछले साल नवंबर माह में केंद्र सरकार की एजेंसी की ओर से पुष्कर में पांच स्मार्ट मीटर लगाए गए। डिस्कॉम के एमडी वीएस भाटी ने पहले स्मार्ट मीटर का निरीक्षण कर योजना का शुभारंभ किया। डिस्कॉम की तकनीकी टीम की ओर से जांच की गई। इसके बाद शहर में स्मार्ट मीटर लगाने का विधिवत काम शुरू हुआ। बाद में कोरोना महामारी के कारण स्मार्ट मीटर लगाने का कार्य बंद कर दिया गया। इसे अब वापस शुरू किया गया है।

यह है स्मार्ट मीटर की विशेषता : स्मार्ट मीटर लगने के बाद उपभोक्ताओं को बिजली उपभोग व बिल समेत सभी आवश्यक जानकारी प्रतिदिन मोबाइल पर ऑनलाइन उपलब्ध होगी। मीटर में फिलहाल पोस्टपेड की सुविधा उपलब्ध होगी। बाद में प्रीपेड सुविधा भी मिल सकेगी। बिल जमा नहीं कराने पर ऑटोमेटिक सप्लाई बंद हो जाएगी तथा बिल जमा होने पर मीटर वापस चालू हो जाएगा। स्मार्ट मीटर लगने के बाद बिजली चोरी, लोड सिस्टम, बिल समय पर नहीं मिलना आदि शिकायतों से निजात मिलेगी।

स्मार्ट मीटर से बिजली अपव्यय को रोका जा सकेगा। यानी अगर कोई उपभोक्ता बिना लाइट बंद किए घर से बाहर चला जाता है तो मीटर उसके मोबाइल पर अलार्म करेगा। इस पर उपभोक्ता मोबाइल से ही घर की लाइट बंद कर सकेंगे।

खबरें और भी हैं...