पुष्कर में गहराया पेयजल संकट:पालिका अध्यक्ष कमल पाठक के नेतृत्व में भाजपा पार्षद और कार्यकर्ता पहुंचे विभाग के कार्यालय, सौंपा ज्ञापन

पुष्कर19 दिन पहले

तीर्थ नगरी पुष्कर में एक और जहा भीषण गर्मी से लोगो का हाल बेहाल है। वहीं दूसरी और जलदाय विभाग की लापरवाही के चलते तीर्थनगरी में पेयजल संकट गहराता जा रहा है। इसको लेकर अब जनप्रतिनिधि भी अपनी सक्रियता दर्ज करा रहे हैं। इस समस्या को लेकर आज पालिकाध्यक्ष कमल पाठक के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ता और पार्षदों ने जलदाय कार्यालय का घेराव कर ज्ञापन सौंपा।

हैरानी की बात यह है कि इस संकट के समय भी जनप्रतिनिधियों और नेताओं की बात सुनने के लिये कार्यालय में कोई जिम्मेदार अधिकारी मौजूद नहीं था। भाजपा मंडल महामंत्री ने बताया कि विभाग की लापरवाही के चलते पुष्कर के लोगो को पानी की एक एक बूंद के लिये तरसना पड़ रहा है।

वैष्णव ने बताया कि आज भाजपा मंडल और पार्षदों की और से ज्ञापन देकर सांकेतिक विरोध दर्ज कराया गया है। अगर दो दिन में जल आपूर्ति सुचारु नहीं हुई तो स्थानीय लोगो के साथ मिलकर जलदाय विभाग के बाहर बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

पार्षद मुकेश कुमावत ने बताया कि पुष्कर को आगे से पर्याप्त पानी मिलने के बावजूद सुचारु जल आपूर्ति नही हो रही है जिससे लोगो मे आक्रोश बढ़ता जा रहा है। जब इस पूरे मसले पर सहायक अभियंता आकांक्षा सोनी से जवाब चाहा गया तो उन्होंने बताया कि पुष्कर की आबादी के अनुरूप 1 पॉइंट 8 एमएलडी पानी की आवश्यकता होती है।

विभाग द्वारा 1 पॉइंट 2 एमएलडी पानी उपलब्ध करवाया जा रहा है। इसके साथ ही विद्युत कटौती के चलते सुबह 6:00 से 9:00 बजे तक पानी की सप्लाई करना संभव नहीं हो पाता। इस संबंध में उच्च अधिकारियों और विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियंता को लिखित रूप में अवगत कराया गया है। जल्द ही समस्या का निस्तारण करने का प्रयास किया जाएगा। ज्ञापन देने के दौरान पालिका उपाध्यक्ष शिव स्वरूप महर्षि, पार्षद विष्णु सेन, रोहन बाकोलिया, कमल पाराशर, नारायण शर्मा उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...