एक अक्टूबर से शुरू होगा मेला:बहरोड़ में तैयारी में जुटे माता के भक्त, मंदिरों में की सजावट

बहरोड़4 महीने पहले

बहरोड़ के गांव दहमी स्थित मनसा माता के मंदिर पर 1 अक्टूबर से तीन दिवसीय शारदीय नवरात्रा में मेला कार्यक्रम आयोजित होगा। जिसको लेकर मंदिर परिसर में तैयारियां की जा रही हैं। मंदिर के बाहर बैरिकेट्ड, मंदिर परिसर के बाहर बने हुए टीन शेड में पंखे, एलइडी बल्ब और हेलोजन लाइट भी लगाई जा रही हैं। रंग-बिरंगी रोशनी से मंदिरों को संजाया जा रहा है। मंदिर परिसर के अंदर लाइटिंग की व्यवस्था की जा रही है। माता के मंदिर को भव्य सजाया जा रहा है।

मंदिर के बाहर लगी स्टालों पर खरीदारी करते श्रद्धालु
मंदिर के बाहर लगी स्टालों पर खरीदारी करते श्रद्धालु

कानून और सुरक्षा बनाए रखने को लेकर एक हेड कांस्टेबल के साथ आरएसी के जवान तैनात किए गए हैं। समाज सेवी के द्वारा मंदिर परिसर में बने हुए पीपल के पेड़ के चारों तरफ चबूतरा बनाया जा रहा है। इस पेड़ पर आस्था का मंगलसूत्र बांधा जाता है। मंदिर पुजारी पंडित भोनेश मिश्रा ने बताया कि माता का मेला शारदीय नवरात्र में षष्टमी, सप्तमी ओर अष्टमी को भरेगा। जिसकी तैयारियों को लेकर मंदिर कमेटी और पुलिस तथा प्रशासनिक अधिकारी लगे हुए हैं।

नवजात शिशुओं का होगा मुंडन
उन्होंने बताया कि इन तीन दिवस में हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, पंजाब, कोलकाता सहित विभिन्न राज्यों और प्रांतों से बड़ी संख्या में माता के भक्त यहां पहुंचेंगे। माता के भक्तों के द्वारा जगह-जगह भंडारा भी लगाया जाएगा। तीन दिवसीय मेले में नवविवाहित जोड़े खुशहाल दांपत्य जीवन व्यतीत करने के लिए अपने गठजोड़े की जात लगाएंगे। नवजात शिशुओं का मुंडन करवाया जाएगा। हाथों में माता दी की ध्वजा लिए हुए भक्त बड़ी संख्या में यहां अपना निशान चढ़ाते हैं। आस्था और श्रद्धा के इस केंद्र में आसपास के गांव के बड़ी संख्या में माता के भक्त श्रद्धालुओं की सेवा में जुटे रहते हैं।

खबरें और भी हैं...